कर्नाटक में गरजे CM नीतीश कुमार, कहा- सांप्रदायिकता, अपराध और भ्रष्टाचार से समझौता नहीं

बिहार विशेष राज्य दर्जा, नीतीश कुमार, JDU, Bihar special status, Bhartiya Janta Party, nitish kumar cm nitish kumar, karnataka election, jdu, नीतीश कुमार, कर्नाटक चुनाव, मुख्यमंत्री नीतीश, कर्नाटक नीतीश,

लाइव सिटीज डेस्क : मुख्यमंत्री सह जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार रविवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव में प्रचार करने पहुंचे थे. वहां नीतीश कुमार ने कर्नाटक जदयू के प्रदेश अध्यक्ष जेएस पटेल के पक्ष में चेन्नागिरी जाकर चुनाव प्रचार किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में टकराव की राजनीति चल रही है. यह स्थिति इस देश और यहां के लोगों के लिए ठीक नहीं है.

धारा 370 को हटाने की बात नहीं होनी चाहिए

उन्होंने कहा कि देश में यूनिफॉर्म सिविल कोड (समान नागरिक संहिता) को थोपने और धारा 370 को हटाने की बात नहीं होनी चाहिए. यह हम लोगों का शुरू से विचार रहा है. जब पिछले साल केंद्र के विधि आयोग ने सभी राज्य सरकारों से यूनिफॉर्म सिविल कोड पर मतव्य मांगा था और पार्टियों को भी इस बारे में लिखा था, तब हमने यह स्पष्ट कहा था कि इस तरह की बात नहीं होनी चाहिए. जदयू ने इस बारे में पत्र भी लिखा था.

जदयू ने 28 उम्मीदवार खड़े किये हैं

कर्नाटक चुनाव में जदयू ने अपने 28 उम्मीदवार खड़े किये हैं. उन्होंने कहा कि पार्टी कर्नाटक में भले ही 28 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, पर जनता का लगाव हर समय जनता दल के साथ रहा है. ऐसी स्थिति में पार्टी का मजबूत जनाधार महिमा पटेल के नेतृत्व में तैयार होगा. इसके पूर्व मुख्यमंत्री टुमकुर मठ पहुंचे, जहां पर वहां के प्रधान स्वामी से मुलाकात की.

कर्नाटक से भावनात्मक लगाव है

मुख्यमंत्री ने कहा, कर्नाटक से हमारा भावनात्मक लगाव रहा है. जनता दल का जन्म ही कर्नाटक में हुआ है. यहां के रामकृष्ण हेगड़े और जेएच पटेल के सानिध्य में जनता दल का विकास हुआ है. हमें भरोसा है कि जेएच पटेल के पुत्र महिमा जे पटेल के नेतृत्व में जदयू का विस्तार कर्नाटक में होगा. उन्होंने कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में पार्टी ने अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करा दी है.

नीतीश कुमार ने कहा कि लंबे समय तक सत्ता में रहने वालों की जवाबदेही अनिवार्य होनी चाहिए. सत्ता में रहने वाले के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उसके कार्यों की चर्चा जनता करे. सरकार की यह भी जिम्मेदारी है कि वह हर साल अपना रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने पेश करे.

कर्नाटक की जनता को उन्होंने बताया कि बिहार में हमारी सरकार हर साल अपने कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जारी करती है. उन्होंने कहा कि इस देश में हम ऐसी राजनीति चाहते हैं, जिसमें विमर्श हो, वाद-विवाद हो. लेकिन, यह जो निजी तौर पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला है और इससे जो तनाव का माहौल पैदा हुआ, इस परिस्थिति से हमलोग सहमत नहीं है.

यह भी पढ़ें : सीएम नीतीश कुमार चले कर्नाटक, आज साढ़े 10 बजे पटना से बेंगलुरु के लिए होंगे रवाना

नीतीश कुमार ने कहा कि हमने जीवन में कभी भी सांप्रदायिकता, अपराध और भ्रष्टाचार से समझौता नहीं किया. यह मूल सिद्धांत है, जिसके साथ हम राजनीति करते हैं. सत्ता में आने के बाद हमारा मूल मंत्र न्याय के साथ विकास का रहा है. इसी पर हम काम करते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*