राम मंदिर मुद्दे पर लालू का तंज, ‘डूबते को राम का सहारा’

lalu-prasad-yadav
फाइल फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : गुजरात में चुनावी सरगर्मियों के बीच राजद चीफ लालू प्रसाद ने एक बार फिर ट्वीट कर बीजेपी को निशाना बनाया है. लालू प्रसाद यादव ने राम के नाम पर राजनीति करने वालों पर तीखा व्यंग्य किया है. राजद प्रमुख लालू यादव ने कटाक्ष करते हुए कहा है कि आज के दौर में डूबते हुए इंसान को “राम” का सहारा है और तिनका शायद पुराना पड़ गया है.

बता दें कि गुजरात चुनाव में बीजेपी एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा जोर शोर से उठा रही है. भगवान राम के नाम पर होने वाली राजनीति गुजरात चुनावों के मौके पर एक बार फिर सुर्खियों में हैं. आरएसएस और भाजपा के नेता अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बारे में बढ़-चढ़कर बयान दे रहे हैं.



हिंदी की पुरानी कहावत है कि ‘डूबते को तिनके का सहारा’. लेकिन बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने गुजरात चुनाव की सरगर्मियों के बीच सोशल मीडिया ट्विटर पर लिखा कि, ‘डूबते को “राम” का सहारा, तिनका पुराना हो गया.’ लालू की इस टिप्पणी को चुनाव हारने वाली पार्टी के परिपेक्ष्य में दिया गया बयान समझा जा रहा है.

इतना ही नहीं लालू यादव ने एक और ट्वीट कर ईश्वर को अपने अंदर खोजने के सनातन सत्य की याद दिलाई है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि, ‘मेरा राम मेरे हदय में सदैव मेरे अंग-संग रहता है. मैं उन्हें मंदिर-मस्जिद-गुरुद्वारे और चर्च में नहीं खोजता.’

लालू यादव ने स्पष्ट तौर पर भगवान राम के नाम पर वोट मांगने वालों पर निशाना साधते हुए लिखा है कि, ‘मैं मेरे परम प्यारे “राम” से वोट नहीं माँगता बल्कि उस पालनहार से अमन में सुख-शांति,समृद्धि और खुशहाली की प्रार्थना करता हूँ.’

गौरतलब है कि, गुजरात में विधानसभा चुनाव के लिए नौ और 14 दिसंबर को दो चरणों में मतदान होना है. भाजपा के कई नेता फिर से राम मंदिर की बातें करने लगे हैं.