मुकेश सहनी मन को ‘लोहा’ कर लें, तो 2019 का टिकट देने को महागठबंधन तैयार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्‍क : बिहार में निषाद राजनीति ने शेप लेना शुरु कर दिया है . सभी उपजातियां भी गोलबंद हो रहीं हैं . ‘सन ऑफ मल्‍लाह’ मुकेश सहनी बिहार में मल्‍लाहों के सबसे बड़े नेता बन चुके हैं . पूरे बिहार में एैक्‍सेपटेंस दिखने लगा है . आगे लोक सभा चुनाव है . निश्चित तौर पर इरादा वोटों की ताकत का प्रदर्शन है . कई लोक सभा क्षेत्रों में निषाद जाति के वोट चुनाव को निर्णायक भूमिका में ले जाने की स्थिति में हैं . राजनीतिक खबर है कि मुकेश सहनी को दोनों गठबंधन शर्त सहित चुनाव लड़ने को तैयार हैं .

सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी तैयारी शुरु कर दी

सबों को पता है कि 2019 का लोक सभा चुनाव निकट देख सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी तैयारी शुरु कर दी है . महागठबंधन और एनडीए गठबंधन आपस में सीटों के तालमेल का सही फार्मूला निकालने को परेशान है . रालोसपा वाले उपेंद्र कुशवाहा को लेकर सबसे अधिक कंफ्यूजन है . वे एनडीए में रहकर भी एनडीए के रास्‍ते चल नहीं रहे हैं . दूसरी ओर, महागठबंधन में इसे लेकर परेशानी है कि कुशवाहा का इंतजार कब तक किया जाए .

निषादों को जगाने का अभियान शुरु

2014 के लोक सभा चुनाव तक बिहार में निषाद समुदाय के वोटों में बहुत जागृति नहीं थी . अकेले जयनारायण निषाद और बाद में उनके बेटे अजय निषाद की पहचान कुछ जिलों में रही . अजय निषाद मुजफ्फरपुर से भाजपा के सांसद भी हैं . पर, 2014 लोक सभा चुनाव से कुछ पहले बिहार में एक्टिव होने वाले सन ऑफ मल्‍लाह मतलब मुकेश सहनी ने पूरे बिहार में निषादों को जगाने का अभियान शुरु कर दिया .

2015 का बिहार विधान सभा चुनाव आते-आते नीतीश कुमार – लालू यादव से लेकर अमित शाह से सीधी बात करने की हैसियत में मुकेश सहनी आ गए . अपने कई समर्थकों के लिए जदयू से टिकट लेने के बाद मुकेश सहनी एनडीए के साथ चले गए . हाल ऐसा था कि वे नरेंद मोदी – अमित शाह के साथ चुनावी सभाओं के लिए डिमांड किए जाने लगे . बड़ी सभाओं में मुकेश सहनी ने नरेंद्र मोदी और अमित शाह के साथ ही जन सभाओं को संबोधित किया .

अब 2018 में मुकेश सहनी ने अपने संगठन निषाद विकास संघ का विस्‍तार पूरे बिहार में कर लिया है . पटना के फाइव स्‍टार मौर्या होटल में बुलाकर निषादों के साथ मीटिंग करते हैं . अगले महीने पटना के गांधी मैदान में लाखों की संख्‍या में निषादों को जुटाकर पार्टी का एलान भी करने वाले हैं . अभी पूरे बिहार की बस यात्रा कर रहे हैं . सभी जिलों में बड़ी संख्‍या में निषाद समुदाय के लोग जुट रहे हैं .

यह भी पढ़ें- मुकेश सहनी ने निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

मुकेश सहनी ने किया एलान : केंद्र सरकार से निषाद समाज को आरक्षण दिलवाना हमारा लक्ष्‍य

इस सूरत में महागठबंधन और एनडीए दोनों ने मुकेश सहनी की ताकत को नोटिस किया है . सहनी निषादों के लिए आरक्षण की मांग कर रहे हैं . बिहार सरकार ने अपना काम कर गेंद को केंद्र सरकार के पाले में फेंक दिया है . ऐसे में, वे जिलों में नरेंद्र मोदी की सरकार को टारगेट कर रहे हैं . राजनैतिक पंडित कह रहे हैं – महागठबंधन मुकेश सहनी को लोक सभा चुनाव लड़ने को तैयार है . पर, उन्‍हें खुद लड़ना होगा . साथ में, इधर-उधर सौदेबाजी नहीं करनी होगी . ठीक इसी तरीके से एनडीए को भी मुकेश सहनी के एडजस्‍टमेंट में कोई परेशानी नहीं है . लेकिन परेशानी यह है कि अभी मुकेश सहनी सिर्फ अपने लिए टिकट की बात करने को तैयार नहीं हैं . वे अधिक की बात करते हैं और बात यहीं फंस जा रही है .

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*