बेटी का इलाज कराने आए थे, लोडेड पिस्टल से चली गोली ने ली जान, CCTV ने खोले राज

आरा(पुष्कर पांडेय) : मौत किस ओर करवट बदलती है कोई नहीं जानता. अपनी बेटी का इलाज प्राइवेट अस्पताल महावीर टोला में 40 वर्षीय व्यक्ति करा रहे थे. सुबह बेटी से मिलकर नीचे दुकान के समीप खड़े थे. तभी Bolero पर सवार तीन लोग आये और आराम से उतरकर नाश्ते के दुकान में नाश्ता करने लगे. करीब 25 मिनट तक नाश्ता किया और हाथ धोने के दौरान बंदूक से चली गोली से सामने खड़े अजीमाबाद थाना क्षेत्र के ब्रह्मपुर निवासी को गोली लग गई. जिसके कारण घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई.

अस्पताल की तस्वीर

जैसा कि नगर थाना कोतवाल जेपी सिंह नगर थाना सन में सीसीटीवी की फुटेज से इस बात का खुलासा हुआ है. हलाकि जिस असामाजिक तत्वों के बंदूक से फायरिंग की घटना हुई है. उन लोगों ने मानवता का भी ख्याल नहीं रखा और जख्मी को छोड़कर फरार हो गए. सूत्रों के अनुसार पुलिस को एक बात खटक रही है कि आखिर 30 मिनट से ज्यादा एक नाश्ते की दुकान में बैठकर इतना देर यह लोग क्या कर रहे थे.



नाश्ते की दुकान की तस्वीर

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अजीमाबाद थाना क्षेत्र के ब्रम्हपुर गांव निवासी रामविचार रवानी पिछले 2 दिनों से अपनी बेटी के अपेंडिक्स का ऑपरेशन एक प्राइवेट नर्सिंग होम में करा रहे थे. इसके बाद वह नीचे उतरकर मंगलवार को नाश्ता करने पहुंचे. नाश्ता के दुकान पर भीड़ खड़ा देख उन्होंने कुछ देर बाद ही करने की बात सोचा. इसी दौरान महावीर टोला इस्थित नाश्ते की दुकान पर 3 नेता कट लोग नाश्ता करने लगे.

इसी दौरान बंदूक से निकली गोली ने दुकान के बाहर खड़े रामविचार रवानी की जान ले ली घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई पुलिस मामले की हर तरफ से छानबीन कर रही है. सूत्रों का कहना है कि नगर थाना कोतवाल जे पी सिंह नगर थाना शाम के दौरान महज एक घंटे के भीतर कांड का उद्भेदन कर लिया है .सूत्रों का कहना है कि जांच के दौरान CCTV से पूरी बात सामने आ गई है .थानाध्यक्ष जे पी सिंह ने बताया कि जल्द ही इस कांड का उद्भेदन हो जाएगा आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है.