अब पटना जंक्शन नहीं होगा सबसे गंदा रेलवे स्टेशन, इस नए एप से दूर होगी गंदगी

लाइव सिटीज डेस्क : भारतीय रेल ने स्टेशनों को स्वच्छ बनाए रखने के लिए मोबाइल एप जारी किया है. इस एप की मदद से आप अपने नजदीकी रेलवे स्टेशन को साफ़ करवा सकते हैं. पूर्व मध्य रेल के ‘स्वच्छ रेल’ नामक मोबाइल एप को रेलवे बोर्ड के कार्मिक सदस्य डीके गायेन ने राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर लांच किया. गायेन ने कहा कि स्टेशनों की स्वच्छता को रेलवे गंभीरता से ले रही है. यात्रियों को सफाई व्यवस्था से संतुष्ट होना चाहिए.

पटना स्टेशन की गंदगी होगी दूर

उन्होंने कहा कि राजेंद्रनगर टर्मिनल एवं पटना स्टेशन परिसर की गंदगी का फोटो इस एप पर डालने के बाद त्वरित कार्रवाई की जाएगी. शीघ्र ही इसका विस्तार किया जाएगा. पर्यवेक्षक से लेकर वरिष्ठ उच्चाधिकारियों तक पांच स्तर पर इसकी निरंतर निगरानी की जाएगी. वर्तमान में यह सुविधा प्रायोगिक तौर पर पटना जंक्शन एवं राजेंद्रनगर टर्मिनल स्टेशन के लिए उपलब्ध रहेगी. बाद में दानापुर मंडल के अन्य महत्वपूर्ण स्टेशनों को भी इससे जोड़े जाने की योजना है. स्वच्छता की दिशा में यह कदम मील का पत्थर साबित होगा.

तुरंत होगी सफाई, नहीं तो होगी कार्रवाई

यात्रियों द्वारा गंदगी की तस्वीर डाले जाने के कुछ ही देर बाद उक्त स्थान की सफाई करके मोबाइल एप पर डालना है. अन्यथा सफाई से जुड़े अधिकारियों व एजेंसियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. रेलवे बोर्ड के कार्मिक सदस्य डीके गायेन ने पूर्व मध्य रेल के सेंट्रल सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का निरीक्षण किया एवं अस्पताल की कार्यप्रणाली की समीक्षा की.

इस अवसर पर अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. संजय कुमार ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन से अस्पताल की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की. इस दौरान अपर महाप्रबंधक विद्या भूषण, मुख्य चिकित्सा निदेशक डा. आरसी त्रिवेदी, मुख्य कार्मिक अधिकारी शैलेन्द्र कुमार एवं दानापुर मंडल के मंडल रेल प्रबंधक रंजन प्रकाश ठाकुर भी उपस्थित थे.

यह भी पढ़ें : भारत के सबसे गंदे रेलवे स्टेशनों में पटना जंक्शन दूसरे नंबर पर, पूरी लिस्ट यहां देखें

बता दें कि अभी हाल ही में रेल मंत्रालय ने देश के सबसे गंदे रेलवे स्टेशनों की सूची को जारी किया था. बिहार की राजधानी पटना का जंक्शन रेलवे स्टेशन इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है. यहां पर भी 60 फीसदी यात्रियों ने साफ-सफाई की व्यवस्था पर रोष व्यक्त किया है. अब इस एप से स्टेशनों की सफाई में मदद मिलेगी.

About Razia Ansari 1935 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*