‘मोदी सरकार संविधान बदलने में लगी है, देश में दलितों के साथ अत्याचार हो रहा है’

तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, tejashwi yadav, भारत बंद, भारत बंद एससी एसटी,

लाइव सिटीज डेस्क : सुप्रीम कोर्ट की ओर से एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ सोमवार को घोषित भारत बंद के मद्देनजर बिहार में इसका व्यापक असर देखा जा रहा है. इस बंद का कई संगठनों ने समर्थन किया है. कई पार्टियों और संगठनों के कार्यकर्ता सुबह से ही सड़कों पर उतर गए हैं. इसके अलावा इस भारत बंद का समर्थन राजद ने भी किया है. पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और पूर्व हेल्थ मिनिस्टर तेज प्रताप यादव ने इस भारत बंद का समर्थन ट्वीट कर किया है.

भारत बंद को राजद का समर्थन

तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि SC/ST एक्ट मामले को लेकर भारत बंद में राजद का पूर्ण सहयोग और समर्थन है. हम आपके समर्थन में सड़कों पर उतरेंगे. मोदी सरकार संविधान बदलने में लगी है. देश में दलितों के साथ अत्याचार हो रहा है. अबकी बार दलित,पिछड़ा और ग़रीब विरोधी भाजपा को सबक़ सिखाना है.

वहीं तेज प्रताप यादव ने लिखा है कि मोदी सरकार द्वारा SC / ST एक्ट के साथ छेड़छाड़ के विरुद्ध आज भारत बंद है. केंद्र की भाजपा सरकार के तानाशाही रवैये के कारण संविधान खतरे में है. हमें बाबासाहब के लिखे संविधान में पूरा विश्वास है इसलिए #BharatBandh को @RJDforIndia का पूरा समर्थन है.

तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, tejashwi yadav, भारत बंद, भारत बंद एससी एसटी,

बता दें कि आज भारत बंद को सफल बनाने के लिए वैशाली, नवादा, आरा, मुंगेर, जहानाबाद, पटना समेत कई जगहों पर प्रदर्शन जारी हैं. कई जगहों पर ट्रेनें रोके जाने की खबर है. बंद के कारण बिहार के कई जगहों पर रेल यातायात बाधित है. प्रदर्शनकारी सड़कों पर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

संगठनों की मांग है कि अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में संशोधन को वापस लेकर एक्ट को पूर्व की तरह लागू किया जाए. दूसरी तरफ केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को लेकर सोमवार को रिव्यू पिटीशन दाखिल करने वाली है.

यह भी पढ़ें : पटना की सड़कों पर भीम आर्मी, बंद करवाई जा रही हैं दुकानें, सड़क पर आगजनी भी
भारत बंद : बिहार-ओडिशा में रोकी गई ट्रेनें, आज रिव्यू पिटिशन दाखिल करेगी मोदी सरकार

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*