अब तेजप्रताप लिखेंगे ‘नीतीश-मोदी लीला’ पर किताब, ‘लालू लीला’ का देंगे जवाब

tejpratap yadav, bihar, politics, petrol diesel, price hike, pm modi, nitish kumar, बिहार hindi news , तेजप्रताप यादव, पेट्रोल-डीजल, महंगा हुआ दाम
तेज प्रताप यादव (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव ने ‘लालू लीला’ के जवाब में सुशील मोदी और नीतीश कुमार पर किताब लिखने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि वे ‘लालू लीला’ के जबाव में ‘नीतीश-मोदी लीला’ लिखेंगे. बहुत जल्द ही उनकी किताब बाजार में आयेगी. पूर्व स्वास्थ मंत्री तेज प्रताप एक कार्यक्रम में भाग लेने मोतिहारी पहुंचे थे. यहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वो भी नीतीश-मोदी लीला लिख रहे हैं. इस दौरान तेज प्रताप ने दोनों भाइयों के बीच अनबन होने की बात को अफवाह बताया. उन्होंने कहा कि यह विरोधियों की चाल है.

नीतीश और सुशील मोदी में फूट है

तेज प्रताप ने कहा कि नीतीश और सुशील मोदी में फूट है. हमारे परिवार के बारे में ये सब आरएसएस और बीजेपी-जदयू के लोग झूठा प्रचार करते हैं. बीजेपी सांसद और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के राजद में शामिल होने की बात पर उन्होंने कहा कि वह राजद में शामिल होंगे तो अच्छी बात होगी. दरअसल, तेज प्रताप यादव मोतिहारी के सूरजपुर गांव में दशहरा महोत्सव में भाग लेने पहुंचे थे. यहां उन्होंने पत्रकारों के सवालों का बेवाक जबाव देते हुए नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बहुत जल्द वह नीतीश और मोदी लीला लिखेंगे. जिसे सबसे पहले पत्रकारों को दिया जायेगा.

तेजस्वी की संविधान बचाओ न्याय यात्रा

इस समय लालू प्रसाद के दोनों बेटे सरकार को घेरने में जुटे हैं. एक ओर उनके छोटे बेटे तथा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ‘संविधान बचाओ न्याय यात्रा’ की दुबारा शुरुआत किया है तो दूसरी ओर तेजप्रताप यादव भी मौके मौके पर नीतीश कुमार और सुशील मोदी को निशाना बनाते रहते हैं. दोनों भाई ट्वीट के माध्यम से भी सरकार को घेरते रहते हैं.

बता दें कि इससे पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद पर अपनी 200 पन्नों की पुस्तक ‘लालू लीला’ लिखी है. 198 पेज की किताब में सुशील कुमार मोदी ने विस्तार से बताया है कि किस प्रकार लालू यादव ने अपने परिवार को अरबपति बनाने के लिए अपने पोजिशन का बेरहमी के साथ दुरूपयोग किया है. किताब के अनुसार 15 साल तक बिहार की बागडोर अपने हाथ में रखकर और 5 साल तक रेलवे मंत्री की कुर्सी पर बैठकर लालू यादव ने अपने और परिवार के नाम पर कुल 141 बेशकीमती भूखण्ड, 30 फ्लैट एवं 6 आलीशान बंगला बटोरे.

यह भी पढ़ें- सुशील मोदी की ‘लालू लीला’ को टक्कर देगी RJD की किताब ‘एनडीए की रासलीला’

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*