विपक्षी एकता को तेजस्वी का संदेश, मोदी सरकार के खिलाफ अब सड़क पर उतरने का समय है

लाइव सिटीज डेस्क : कर्नाटक विधानसभा चुनाव देशभर में विपक्षी एकता के साथ ही साथ यूपी की विपक्षी पार्टियों के लिए भी सबक है. इस चुनाव ने 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों में बीजेपी के खिलाफ पड़ने वाले मतों के विभाजन को रोकने की जरूरत विपक्ष को महसूस कराया है. पार्टी नेताओं का कहना है कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस जैसी विपक्षी पार्टियों का तर्क है कि ये बीजेपी विरोधी मतों का बंटवारा ही था जिस कारण से कर्नाटक में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी.

तेजस्वी यादव का ट्वीट

इसी को लेकर बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट कर विपक्षी एकता को एकजुट करने की बात कही है. तेजस्वी यादव ने लिखा है कि अहंकार को दूर रखते हुए, विपक्ष को 24X7 प्रो-लोक कार्यक्रम विकसित करने की आवश्यकता है, युवाओं, किसानों, दलितों, पिछड़े और अल्पसंख्यकों के प्रति समयबद्ध प्रतिबद्धता की जरूरत है. मोदी सरकार द्वारा बनाए गए अत्याचार, मुद्रास्फीति और बेरोजगारी के खिलाफ सड़कों पर हमला करने का समय है.

इधर अब राहुल गांधी को भी लगने लगा है कि कर्नाटक मॉडल को जोर-शोर से आगे बढ़ाकर सभी विपक्षी पार्टियों को एक मंच पर इकट्ठा किया जा सकता है. मोदी और शाह की अगुवई में अगुवाई में चल रहे बीजेपी के रथ को थामने के लिए विपक्षी एकता ही इन दलों के लिए अब एकमात्र विकल्प बचा हुआ है.

ऐसा नहीं है कि कर्नाटक चुनाव के पहले विपक्षी एकता की कोशिशें नहीं हुई हैं. सोनिया गांधी दो बार विपक्षी दलों के नेताओं को डिनर पार्टी पर आमंत्रित करके अपनी मंशा जता चुकी हैं. कांग्रेस चाहती है कि यूपीए का एक बार फिर से ढंग से गठन हो और कांग्रेस की अगुवाई में सारे विपक्षी दल बीजेपी का 2019 के लोकसभा चुनाव में मुकाबला करें.

एक ओर सोनिया गांधी की कोशिश चल रही हैं, तो दूसरी ओर ममता बनर्जी और टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव भी अपनी ओर से एक फेडरल फ्रंट बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं. जहां सोनिया गांधी कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों को एक मंच पर लाना चाहती हैं, वहीं ममता बनर्जी तमाम क्षेत्रीय दलों से मुलाकात कर बीजेपी और कांग्रेस मुक्त फेडरल फ्रंट का गठन करने की कोशिश में लगी हुई हैं.

यह भी पढ़ें : भाजपा ‘वन मैन शो’ और ‘टू मैन आर्मी’ बन चुकी है, बोले शत्रुघ्न और यशवंत सिन्हा

About Razia Ansari 1273 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*