अपडेट : सीवान में दबंग अजय सिंह को जदयू की हरी झंडी, बांका में पुतुल कुमारी को ‘ना’

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में हलचल तेज है. हालांकि सबकी नजर अब महागठबंधन में सीट शेयरिंग और कैंडिडेट्स के एलान की ओर है. हर पल नई सूचनाएं निकल कर सामने आ रही हैं. इस वक़्त की नई जानकारी महागठबंधन में सीवान, बांका और आरा लोकसभा सीट को लेकर है. आरा में भाकपा-माले उम्मीदवार को राजद की सहमती मिल गई है. दीपांकर भट्टाचार्य ने आज बुधवार की शाम पटना में तेजस्वी यादव से मुलाक़ात के बाद यह जानकारी दी है.

बताया गया है कि आरा लोकसभा सीट के लिए भाकपा-माले के राजू यादव महागठबंधन के कैंडिडेट होंगे. तेजस्वी यादव ने इसपर अपनी सहमती दे दी है. वहीं पार्टी सीवान लोकसभा क्षेत्र में भी अमरनाथ यादव को उतारना चाह रही है. सीवान में पहले से ही राजद के टिकट पर हीना शहाब का लड़ना तय है. हीना शहाब पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की पत्नी हैं. ऐसे में वहां फ्रेंडली फाइट होने की बात कही गयी है. आगे वीडियो में जानिये सीवान और बांका से जुड़ी अपडेट की डिटेल…

जदयू से दबंग अजय सिंह को हरी झंडी

सीवान में जदयू ने दबंग अजय सिंह को चुनाव लड़ने के लिए हरी झंडी दे दी है. अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं है, लेकिन उन्हें कागजात तैयार करने को कह दिया गया है. अजय सिंह जिले में एंटी-शहाबुद्दीन गुट में रहे हैं. उनकी मां जगमातो देवी भी विधायक रही हैं. अजय सिंह की पत्नी कविता सिंह वर्तमान में दारौंदा से विधायक हैं.

निर्दलीय लड़ सकते हैं ओम प्रकाश यादव

सीवान के सांसद ओम प्रकाश यादव के भी निर्दलीय चुनाव में उतरने की चर्चा तेज हो गयी है. सीवान की लोकसभा सीट अब जदयू के खाते में चली गयी है. इससे सांसद ओम प्रकाश यादव काफी नाराज भी बताये जा रहे हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी भड़ास भी निकाली थी. वैसे सीवान में फिलहाल जदयू ने भी कैंडिडेट तय नहीं किया है.

वहीँ NDA की ओर से बांका लोकसभा सीट के लिए नई सूचना है. बांका से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व सांसद पुतुल कुमारी को NDA में किसी पार्टी से टिकट मिलने की उम्मीद नहीं है. पहले यह माना जा रहा था कि वे चुनाव लड़ेंगी ही, चाहे पार्टी कोई भी हो. लेकिन चर्चा अब जदयू के पूर्व सांसद गिरधारी यादव की है. NDA में सीट बंटवारे में बांका जदयू के खाते में ही गया है.

लोकसभा चुनाव : दोनों फेज में अब तक कुल 15 नामांकन, बसपा से 2 ने भरा परचा

लोकसभा चुनाव 2019 : औरंगाबाद की वजह से पहले फेज में भी भाजपा नेता रहेंगे एक्शन में

पुतुल कुमारी को जानिए

पुतुल कुमारी स्वर्गीय सांसद दिग्विजय सिंह की पत्नी हैं. उनके निधन के बाद हुए लोकसभा उपचुनाव में पुतुल कुमारी निर्दलीय प्रत्‍याशी के तौर पर चुनाव जीती थीं. इस चुनाव में भाजपा ने पुतुल कुमारी के समर्थन में अपना कोई उम्‍मीदवार नहीं दिया था. हालांकि बाद में वह 2014 का लोकसभा चुनाव करीब दस हजार वोट से हार गईं थीं. उन्हें मौजूदा सांसद राजद के जयप्रकाश नारायण यादव ने हराया था.

बांका में चुनाव दूसरे चरण में ही होना है. इसके लिए नोटिफिकेशन 19 मार्च को जारी हुआ था. नामांकन दाखिल करने की तारीख 26 मार्च है. स्क्रूटनी 27 मार्च को होगी जबकि नामांकन वापस लिए जाने की तारीख 29 मार्च तक होगी. इस चरण के लिए 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.

About Anjani Pandey 827 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*