बिहार के गन्ना मंत्री से फिर मांगी रंगदारी, 10 लाख नहीं दिये तो जान से मार देंगे

खुर्शीद आलम, गन्ना मंत्री, बिहार सरकार

पटना : बिहार सरकार के गन्ना मंत्री खुर्शीद आलम से एक बार फिर रंगदारी मांगी गई है. इस बार उनसे फोन पर 10 लाख रूपये की रंगदारी मांगी गई है. बताया जा रहा है कि रंगदारी मांगने वाले ने रूपये नहीं देने पर जान से मारने की भी धमकी दी है. मंत्री खुर्शीद अहमद से रंगदारी मांगने का यह पहला मामला नहीं है. उनसे पहले भी कई बार रंगदारी के लिए फोन किया जा चुका है. पिछली बार तो इसी महीने की 10 तारीख को उनसे 1 लाख रूपये की रंगदारी मांगी गई थी. तब भी न देने पर जान से मारने की धमकी मिली थी.

आज शनिवार को मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में राजधानी पटना के कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई जा रही है. पिछली बार एक लाख रंगदारी रुपये मांगने तथा नहीं देने पर जान मारने की धमकी पर मंत्री द्वारा बेतिया के पुरुषोत्तमपुर थाने में इम्तियाज नामक एक व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. खुर्शीद पश्चिम चंपारण के सिकटा से जदयू विधायक हैं.



धमकी का है पुराना इतिहास

खुर्शीद आलम को धमकी मिलने का पुराना इतिहास है. उन्हें इसी साल जून माह में 10 लाख रुपए की रंगदारी की मांग का मैसेज किया गया था. इतना ही नहीं पैसे नहीं देने पर पूरे परिवार सहित उड़ा देने की धमकी भी दिया गया था. हालांकि तब पटना एसएसपी मनु महाराज ने तुरंत कार्रवाई करते हुए प्राथमिकी दर्ज होने के 24 घंटे के अंदर ही पप्पू कुमार यादव नाम के शख्स को बेतिया से गिरफ्तार किया था. पता चला था कि यह पप्पू की आदत है. चर्चा में आने के लिए उसने मंत्री को अपने ही मोबाइल से रंगदारी के मैसेज कर डाला था.

गन्ना मंत्री से मांगी थी रंगदारी, मनु महाराज ने 24 घंटे में धर लिया
बिहार के गन्ना विकास मंत्री खुर्शीद को मिली जान मारने की धमकी

आलम से इसी माह दिसंबर में उस वक़्त रंगदारी की मांग की गई थी जब वे बगहा के पतिलार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दौरा कार्यक्रम की तैयारी की समीक्षा कर बेतिया के पुरुषोत्तमपुर स्थित पेट्रोल पंप पर अपने समर्थकों व कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहे थे. इसी दौरान उन्हें फोन किया गया और उनसे एक लाख रुपये रंगदारी की मांग की गई. कहा गया कि अगर वह यह राशि नहीं देंगे तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा.

अन्य मंत्री-विधायकों से भी रंगदारी की मांग

 

इससे पहले बिहार सरकार में पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत से 8 दिसंबर को मोबाइल पर कॉल कर रंगदारी मांगी गई थी. इसी दिन हुई दूसरी घटना में मुजफ्फरपुर से निर्दलीय महिला विधायक बेबी देवी को भी जान से मारने की धमकी दी गई है.

महिला विधायकों को धमकी मिलना कोई नई बात नहीं है. इससे पहले राजद की महिला विधायक स्वी​टी सीमा हेंब्रम तथा वीणा भारती से भी फ़ोन कॉल कर धमकी दी जा चुकी है. बांका के कटोरिया विधानसभा से राजद की विधायक स्वी​टी सीमा हेंब्रम को 24 अगस्त को अज्ञात नंबर से एसएमएस कर 5 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई थी. इसी साल जुलाई माह में सुपौल के त्रिवेणीगंज की विधायक वीणा भारती को भी धमकी का अज्ञात अपराधियों द्वारा फोन पर जान की धमकी दी गई थी.

इसी क्रम में राजद की एक और महिला विधायक एज्या यादव को भी बीते अक्टूबर माह में फोन पर धमकी और अभद्र व्यवहार का मामला सामने आया था. एज्या यादव समस्तीपुर के मेहदीगंज विधानसभा इलाके की विधायक हैं. उन्हें 8 अक्टूबर को अज्ञात नंबर से फोन कर पहले तो दुर्व्यवहार किया गया फिर जान से मारने की धमकी दी गई. एज्या यादव ने पहले इस धमकी की शिकायत समस्तीपुर में की थी. बाद में उन्होंने पटना के बुद्धा कॉलोनी थाना में भी एफआईआर दर्ज कराया था.