हिज़्ब-उल-मुजाहिद्दीन संगठन का सक्रिय आतंकी इंडो-नेपाल सीमा के पास सोनौली से गिरफ्तार

गोपालगंज(त्रिभुवन नाथ मिश्र): भारत-नेपाल सीमा के उत्तर प्रदेश वाले हिस्से में सोनौली बॉर्डर पर शनिवार की देर शाम हिज़्ब-उल-मुजाहिद्दीन का आतंकी दबोच लिया गया. आतंकी को पाकिस्तानी आतंकी संगठन हिज़्ब-उल-मुजाहिद्दीन का सक्रिय सदस्य बताया जा रहा है. फिलहाल एसएसबी उसे हिरासत में लेकर पूछताछ में जुट गई है. उसके आतंकी कनेक्शन होने की जानकारी मिलते ही सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ गए. शनिवार की पूरी रात चली पूछताछ में संकेत मिले हैं कि वह आतंकी संगठन हिज़्ब-उल-मुजाहिद्दीन का सक्रिय सदस्य है.

गिरफ्तार आतंकी की पहचान जम्मू-कश्मीर के रामबान जिले के डोलीगाम मूल निवासी नसीर अहमद के रूप में हुई है. उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले के एसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि मार्च 2003 में हिज़्ब-उल कमांडर के संपर्क में आने के बाद उसने आतंक का रास्ता अख्तियार कर लिया. जम्मू-कश्मीर में कई आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के बाद सितंबर 2003 में अपने 23 साथियों के साथ नसीर एलओसी पार कर पाक अधिकृत कश्मीर में चला गया. वहां कुछ समय के लिए अथुकम जिले में उसने अपना ठिकाना बनाया. इसके बाद वह हिज़्ब-उल के मुख्यालय मुजफ्फराबाद पहुंचा. जहां पर उसे हिज़्ब-उल के जिला कमांडर मोहम्मद शरीफ के गार्ड के रूप में काम किया. इस संदिग्ध आतंकवादी को रविवार की सुबह लगभग 5 बजे एटीएस की टीम पूछ-ताछ के लिए लेकर दिल्ली रवाना हो गई है.

गिरफ्तार आतंकी नसीर अहमद के बारे में खुफिया जानकारी यह भी है कि उसने पीओके में ही 2009 में आशा नईम से शादी कर ली थी. नसीर अहमद के पास से पाकिस्तानी पासपोर्ट भी मिला है.

जिसमें उसकी पहचान पाकिस्तान के गुजरात जिले के लाल मूसा गांव के निवासी के रूप में हुई. जानकारी यह भी मिल रही है कि वह वर्ष 2015 में जम्मू कश्मीर पुलिस की 11वीं बटालियन का हेडकांस्टेबल था. 23 मार्च को वह दो सरकारी बंदूकों के साथ लापता हो गया. कुछ माह बाद ही उसके हिज़्ब-उल-मुजाहिद्दीन में शामिल होने की खबर आयी थी और फोटो भी वायरल हुए थे.

सोनौली सीमा से पकड़े संदिग्ध नसीर अहमद की शक्ल हूबहू गायब जम्मू कश्मीर पुलिस के उस जवान से मिल रही है, जो बंदूकें लेकर फरार हुआ था. एसएसबी व स्थानीय एजेंसियां इस संबंध में प्रेस को कुछ भी नही बताने से कतरा रही हैं.

यह भी पढ़ें :-
कानून-व्यवस्था की बहाली पर ध्यान दें नीतीश, नहीं तो राज्यभर में आंदोलन करेगी जलोपा