कांप उठी इंसानियत : भागलपुर में सनकी बाप ने दो बेटों को मारी गोली

लाइव सिटीज डेस्क : भागलपुर में खून का रिश्ता कलंकित हो गया.  मानवता शर्मसार हो गई. इंसानियत रोने लगी. जिसे भी घटना की जानकारी मिली उसका रूह कांप उठा. एक सनकी पिता ने अपने ही खून का क़त्ल कर दिया. आपराधिक छवि का पूर्व मुखिया ने अपने ही कलेजे के टुकड़े को गोली मार दिया.

मामला भागलपुर के सुलतानगंज प्रखंड के महेशी पंचायत की है.  पूर्व मुखिया और आपराधिक छवि के रवीन्द्र यादव ने अपने दो बेटे को सोमवार की देर रात डेढ बजे अपने आवास पैन गांव में गोली मार दी. इसमें एक पुत्र शिक्षक मुकेश यादव की मौत मौके पर ही हो गई जबकि दूसरा पुत्र छोटू गंभीर रूप से जख्मी हो गए. घटना के संबंध में बताया जाता है कि कुछ दिनों से चल रहे पारिवारिक विवाद में पूर्व मुखिया ने वारदात को अंजाम दिया.

ग्रामीणों के मुताबिक शिक्षक मुकेश यादव परिवार में शांति व सौहार्द बनाए रखने का निरंतर प्रयास करता था. घटना की रात भी वो लखीसराय से अपने एक मित्र के साथ घर लौटा था,और अपने उस मित्र के साथ बाहर चौकी पर सोया हुआ था. सोये हुए अवस्था में ही क्रूर पिता ने पुत्र मुकेश के मुंह में गोली मार दी, उसे छुड़ाने आए छोटा भाई छोटू पर भी गोली चला दी जो उसके हाथ में लगी.

पिता की गोली का शिकार बने मुकेश पांच बच्चों का पिता था. वो मध्य विद्यालय तिलकपुर में सहायक शिक्षक के पद पर कार्यरत थे. परिवार के लोगों के मुताबिक हत्यारा पिता एवं उनके बड़े पुत्र के बीच गाय और बकरी को बेचने को लेकर विवाद था. शिक्षक मुकेश मवेशी बेचने का विरोध कर रहे थे , इस मामले में मां बेटे का पक्ष लेती थी.

इस बात पर आरोपी सभी पुत्र को मार देने की धमकी भी देता था. पूर्व मुखिया का अपराधिक रिकार्ड पूर्व मुखिया का अपराधिक रिकार्ड रहा है. वो कई संगीन मामले में जेल जाकर चुका है. मृतक मुकेश अपने पांच भाई में दूसरे स्थान पर था. गोली मारने के बाद हत्यारे को उसके छोटे भाई ने घर से पैसा देकर भगा दिया है. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल से एक खोखा बरामद किया है.

यह भी पढ़ें-  रिश्ते का खून : देवर ने भाभी को गोली से भून डाला, मौके पर मौत