बुजुर्ग महिलाओं को धमका रहे बदमाश, वरीय अधिकारियों से मिलेगा बंगाली एसोसिएशन

लाइव सिटीज डेस्क : शुक्रवार को बंगीय साहित्य परिषद ने आपात बैठक का आयोजन किया. बैठक की अध्यक्षता डॉ. रत्ना मुखर्जी ने की. डॉ. रत्ना बिहार बंगाली एसोसिएशन की भागलपुर शाखा की नव निर्वाचित अध्यक्ष भी हैं. बैठक का मकसद डॉ. गीता मजूमदार को कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा धमकाने के मामले को उठाना था.

इससे पहले डॉ. गीता मजूमदार ने बिहार बंगाली एसोसिएशन को पत्र लिखकर फौरी मदद की गुहार लगाई थी. पत्र में डॉ. गीता ने लिखा था कि किस तरह असामाजिक तत्व उन्हें परेशान कर रहे हैं. वह इस कदर तंग आ चुकी हैं कि अपना मकान तमाम अन्य बंगाली परिवारों की तरह छोड़कर शहर से पलायन करने के बारे में भी सोच रही हैं. बैठक का मकसद अपनी बहन गौरी मजूमदार के साथ रह रही बुजुर्ग डॉ. गीता मजूमदार को मदद मुहैया करवाना था.

बैठक में कई सदस्यों ने भागलपुर में रहते हुए मजूमदार बहनों के द्वारा चिकित्सा और शिक्षा के क्षेत्र में किए गए योगदान को भी याद किया. बैठक में उन्हें तंग करने की कोशिशों की निंदा की गई. जबकि मामले के समाधान के लिए पत्र लिखकर स्थानीय प्रशासन से दोनों महिलाओं की सुरक्षा की मांग भी की गई. बैठक में यह भी तय किया गया कि बिहार बंगाली एसोसिएशन की भागलपुर शाखा का प्रतिनिधिमंडल डॉ. मजूमदार से मिलकर उनकी समस्या को समझेगा.

प्रतिनिधिमंडल उच्च अधिकारियों से मिलकर आरोपियों की गिरफ्तारी और दोनों बुजुर्ग महिलाओं की सुरक्षा की मांग भी करेगा.