किशनगंज में BJP प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू , किसान और तीन तलाक मुख्य मुद्दे

bjp

पटना/किशनगंज (नियाज़ आलम) : वंदे मातरम और भारत माता की जय के उद्घोष के साथ ही किशनगंज में मंगलवार से भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू हो गई. इसमें भाग लेने के लिए बिहार बीजेपी के तमाम नेता और पार्टी कोटे के सांसद और मंत्री किशनगंज पहुंचे हैं. नित्यानंद राय के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद उनकी अध्यक्षता में यह कार्यसमति की दूसरी बैठक है. एमजीएम मेडिकल कॉलेज सभागार में दोपहर 3 बजे से प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू हुई, जो रात आठ बजे तक चलेगी. बैठक का समापन सत्र तीन मई को होगा.



एमजीएम मेडिकल कॉलेज परिसर में बैठक के पहले दिन कृषि प्रस्ताव लाया गया. किसानों के प्रति राज्य सरकार की उदासीनता के विरोध में कार्यसमिति के सदस्यों ने सड़क से सदन तक चरणबद्ध आंदोलन का ऐलान किया. मोरचा व प्रकोष्ठ का गठन प्रखंड स्तर पर 15 मई तक करने के निर्णय के साथ ही 20 मई से 15 जून तक महासपंर्क अभियान चलाने का निर्णय लिया गया. अल्पसंख्यक महिला के बीच तीन तलाक के मुद्दे पर चर्चा के लिए अल्पसंख्यक समाज के लोगों से पहल करने का आग्रह किया गया. साथ ही बैठक में केंद्र सरकार की उपलब्धियों व राज्य सरकार की नाकामियों से जनता से अवगत कराने का निर्णय लिया गया.

bjp

पहले दिन भगवा झंडे से पटा पूरे शहर में भाजपा की कार्यसमिति की बैठक को लेकर भाजपा कार्यकर्ता खासे उत्साहित हैं. कार्यसमिति की बैठक को लेकर जिला प्रशासन द्वारा चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की गई है. इसके अलावा कार्यक्रम संयोजक की ओर से भी प्राइवेट सिक्युरिटी एजेंसी की मदद ली जा रही है. एमजीएम कॉलेज में जगह-जगह एसआइएस के जवानों को मुस्तैद किया गया है.

bjp1

इससे पहले 2 मई को कार्यसमिति की बैठक के पहले जिलाध्यक्षों समेत जिला प्रभारियों की बैठक की गई. ऐसा माना जा रहा है कि भाजपा सीमांचल में अपनी पैठ मजबूत करना चाहती है. जिस इलाके में यह बैठक हो रही है वो सीमांचल का इलाका है और वहां अल्पसंख्यकों की संख्या कहीं अधिक है. भाजपा की कार्यसमिति की बैठक पर अन्य दलों की भी नजर है.

पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा को सीमांचल में बुरी तरह मात खानी पड़ी थी.