आचार्य नन्दलाल बसु की धरती पर लोगों ने डाला अर्घ्य, देखें तस्वीरों में

लाइव सिटीज डेस्क : लोक आस्था के चार दिवसीय महापर्व छठ पूजा के तीसरे दिन आज शाम अस्ताचलगामी सूर्य को पहला अर्घ्य दिया जा रहा है. आज यानि गुरूवार को शाम 05 बजकर 13 मिनट पर सूर्यास्त से पहले छठ व्रती अलग-अलग जगहों जलाशयों में भगवान भास्कर की आराधना कर रहे हैं.

दरअसल, सूर्य को अर्घ्य देने से पहले छठ व्रती नदियों और तालाबों में खड़े होकर भगवान भास्कर की आराधना करते हैं और सूर्यास्त के पहले पहला अर्घ्य दिया जाता है. पूरे बिहार में लोगों ने भास्कर भगवान को अर्घ्य दिया.

पूरे बिहार की तरह आचार्य नन्दलाल बसु की धरती हवेली खड़गपुर में भी लोगों ने अर्घ्य डाला. भगवान भास्कर के डूबते स्वरूप की पूजा की. हवेली खड़गपुर के मणि नदी घाट से लेकर सितुहार नहर और कंटिया बाजार नहर पर छठ पूजा को लेकर जबर्दस्त भीड़ उमड़ी है.

नदी से लेकर नहर तक को प्रशासन व लोगों के सहयोग से सजाया गया हैं. सद्भावना घाट पर भजन संध्या का आयोजन अनुमंडल प्रशासन की ओर से किया गया है. बता दें कि यह शहर विश्व प्रसिद्ध चित्रकार नन्दलाल बसु की जन्मभूमि है. हवेली खड़गपुर में देखें छठ पूजा तस्वीरों में..