बिहार में महिला आयोग की कमान अब दिलमणि मिश्रा के हाथ

लाइव सिटिज डेस्क : 17 माह के इंतजार के बाद बुधवार को बिहार में महिला आयोग का पुनर्गठन हो गया. इसमें पूर्व विधायक और जदयू नेता दिलमणि मिश्रा को महिला आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है. दिलमणि कैलाशपति मिश्रा की बहू हैं. समाज कल्याण विभाग ने आदेश जारी कर दिया है. मई, 2016 में सभी आयोगों के अध्यक्ष व सदस्यों से इस्तीफा ले लिया था.

महिला आयोग के नये सदस्यों में मंजू कुमारी (एसी), डॉ निक्की हेम्ब्रम (एसटी), रजिया अंसारी (अल्पसंख्यक), प्रतिमा सिन्हा( पिछड़ा वर्ग), डॉ उषा विद्यार्थी (विधि), नील सहनी (सामाजिक कार्यकर्ता) और रेणु देवी सदस्य बनी हैं. सदस्य के रूप में समाज कल्याण विभाग द्वारा एक मनोनित प्रतिनिधि (पदेन सरकारी सदस्य), गृह विभाग द्वारा मनोनित एक प्रतिनिधि (पदेन सरकारी सदस्य) कार्य करेंगी.

आयोग की सदस्य सचिव राज्य महिला विकास निगम की प्रबंध निदेशक होंगी. सभी का कार्यकाल अधिकतम तीन वर्ष या अगले आदेश तक इनमें से जो भी पहले हो लागू होगा. इस संबंध में समाज कल्याण विभाग ने आदेश जारी कर दिया है. मई 2016 में सभी आयोगों के अध्यक्ष और सदस्यों के इस्तीफा ले लिया गया है.