अरवल में टीचर की मौत से सनसनी, बंद कमरे में मिला शव

अरवल (राकेश कुमार) : जिले के करपी प्रखंड मुख्यालय से सटे खजुरी गांव के समीप पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि द्वारा संचालित विद्यालय के शिक्षक आवास के बंद कमरे में शिक्षक के शव मिलने से सनसनी फैल गई. मृत्य शिक्षक मोहन सांडिल्य दार्जिलिंग के रहने वाला बताया जाता है. प्रथम दृष्टांत हार्ट अटैक से हुई मौत की बात सामने आ रही है. घटना के बारे में बताया जाता है कि शिक्षक सुबह अपने आवास से निकलकर बाजार का भ्रमण करने भी किए थे. उसके बाद विद्यालय कर्मियों से मुलाकात कर अपने कमरे में आराम करने चले गए.

काफी देर तक जब शिक्षक अपने कमरे से बाहर नहीं आए तो मौजूद विद्यालय कर्मियों ने उन्हें देखने गए तो दरवाजा अंदर से बंद था. दरवाजे को खटखटाने के बावजूद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो विद्यालय कर्मियों ने इसकी सूचना थाने को दी. पुलिसकर्मी की उपस्थिति में विद्यालय का दरवाजा तोड़ा गया तो शिक्षक फर्श पर मृत पाए गए. मृत शिक्षक अपने कान में एयर फोन लगाए हुए थे जिससे ऐसा प्रतीत हो रहा था शायद ये अपने मोबाइल से कहीं बात कर रहे होंगे या फिर गाना सुन रहे होंगे.

विद्यालय कर्मियों ने बताया कि एक ये काफी खुशमिजाज इंसान थे, डायबिटीज तथा हार्ट के पेशेंट भी थे. जिसके कारण यह हमेशा दवा खाते रहते थे. हालांकि पुलिसकर्मी सब को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अरवल सदर अस्पताल भेज दी है. मौजूद पुलिसकर्मियों ने बताया कि प्रथम दृष्टांत यह हार्ट अटैक से हुई मौत की मामला लग रहा है. हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी कि शिक्षक की मौत की वजह क्या रही है?

यह भी पढ़ें – काश ! जनता के सभी नुमाइंदे मीना सिंह की तरह होते, तो पब्लिक नहीं रोती
आरा में हैवानियतः सास-ससुर और ननद ने मिलकर काट डाली बहू की गर्दन 
खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में 
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा