होटल के कमरे में मौसा ने की जबरदस्ती, कस्टडी में BSEB का बाबू

पटना : वो बाप की तरह था. पटना में लोकल गार्जियन था. बावजूद इसके अपने ही साढ़ू की बेटी पर उसकी गलत नजर हर वक्त रहती थी. पहले तो वो हर वक्त इस फिराक में र​हता था कि  कब वो मासूम नव्या (बदला हुआ नाम) की बॉडी को गलत तरीके से टच कर सके. लेकिन इस बार जो उसने हरकत की, वो रिश्तों को तार—तार कर देने वाली थी. मौसा ने नव्या के साथ पटना के एक होटल के कमरे में जबरदस्ती की. सीधे तौर पर लड़की का आरोप है कि उसके मौसा ने उसका रेप किया.

मंगलवार को ये मामला सामने आया है. आरोपी मौसा का नाम अमरेन्द्र नारायण चौधरी है. जो बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड में बतौर असिस्टेंट गवर्नमेंट जॉब में हैं और पटना के ही शिवपुरी इलाके में रेंट का घर लेकर रहते हैं. जबकि पीड़िता मूल रूप से दरभंगा जिले की रहने वाली है. नागेश्वर कॉलोनी के एक गर्ल्स हॉस्टल में रहती है और एक महिला कॉलेज में इंटरमीडिएट साइंस की स्टूडेंट है.

आरोप जो लड़की ने लगाया

नवरात्र की छुट्टियों के टाईम नव्या अपने घर जाना चाहती थी. लेकिन मौसा ने जाने से रोक दिया. फ्रेजर रोड के होटल गली में स्थित एक होटल में उसे ठहराया. नवरात्र की छुट्टियां भी खत्म हो गई. वो अपने हॉस्टल जाना चाहती थी, लेकिन उसे वहां भी जाने नहीं दिया गया. लड़की की मानें तो वो होटल से ही कोचिंग और कॉलेज का क्लास करने जाया करती थी. होटल  का पूरा खर्चा उसके मौसा ही उठा रहे थे.

CHAUDHRY
आरोपी मौसा

वाकया संडे की दोपहर का है. होटल के कमरे में वो सो रही थी. दोपहर करीब पौने एक बजे मौसा वहां पहुंचे. कमरे का गेट खुलवाया, फिर अंदर आते ही पहले उसे जोर से एक थप्पड़ गाल पर जड़ दिया. नव्या कुछ समझ पाती, तब तक उसे जोर का धक्का दे दिया गया. जिसके बाद वो दीवार से जा टकराई, उसके सिर में काफी चोट आई. इसके बाद ही कमरे का गेट बंद कर दिया. लड़की का आरोप है कि मौसा ने हाथ रख उसके मुंह को दबा दिया और इसके बाद ही उसके साथ जबरदस्ती की.

मौसी ने नहीं मानी बात

बोर्ड आॅफिस के बड़ा बाबू अमरेन्द्र नारायण चौधरी ने दो शादी की है. नव्या की मौसी इनकी दूसरी वाइफ है. इनसे कोई बच्चा भी नहीं है. जबकि पहली वाइफ की काफी पहले मौत हो चुकी है. इनसे दो बेटा और एक बेटी है. नव्या की मानें तो वो बचपन से ही अपने फैमिली वालों की जगह मौसा और मौसी के साथ पटना में रहती थी. मौसा अक्सर उस पर गलत नजर रखते थे. उनकी हरकतों के बारे में उसने अपनी मौसी को बताया था. लेकिन मौसी ने उसकी बात नहीं मानी. तीन साल पहले क्लास 9 की पढ़ाई पूरी करने के बाद ही वो मौसा का घर छोड़कर हॉस्टल में रहने चली गई थी.

एसएसपी के आदेश पर एक्टिव हुई महिला थाने की टीम

होटल के कमरे में संडे को जो कुछ भी हुआ, उससे मासूम नव्या काफी डर गई थी. उसे कुछ नहीं समझ में आ रहा था कि वो क्या करे? मंडे को वो कॉलेज गई. अपने खास फ्रेंड के साथ मौसा की गंदी हरकतों को शेयर किया. फिर उसने हिम्मत जुटाई और मौसा के खिलाफ पुलिस में कंप्लेन करने का डिसीजन लिया. आज मंगलवार को वो पहले पटना के एसएसपी मनु महाराज से मिली. उन्हें पूरा मामला बताया.

बिना किसी देरी के एसएसपी ने महिला थाने की टीम को अपने आॅफिस बुला लिया. मामले की गहराई से छानबीन करने और दोषी के खिलाफ तुरंत एक्शन लेने का आदेश दिया. फिर क्या था, लड़की की कंप्लेन के बाद महिला थाने की पुलिस टीम बोर्ड के बड़ा बाबू व पीड़िता के मौसा को थाने आई. अब वहां अपनी कस्टडी में रख कर पुलिस टीम पूछताछ कर रही है. अब इस मामले में एफआईआर दर्ज कर वेडनस्डे को लड़की का पुलिस मेडिकल टेस्ट कराएगी.