लालू प्रसाद के आवास पर दिखी छठ की रौनक, पूरा परिवार था उपस्थित

पटना: लालू प्रसाद के आवास पर कोई भी आयोजन हो लोगों के आकर्षण का केंद्र रहता है. दुनिया भर की निगाहें उस आयोजन की एक एक गतिविधियों पर लगी रहती हैं. इस बार लालू जी के आवास पर छठ का आयोजन नहीं होना था.

दरअसल राबड़ी देवी जी का मधुमेह बढ़ा हुआ है और 36 घंटे का उपवास इसमें खतरनाक माना जाता है. लेकिन अंत में छठ मनाने का निर्णय हुआ. लोक आस्था के महापर्व छठ के मौके पर इस बार आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद के घर में जश्न—सा माहौल है. परिवार के सभी सदस्य पधारे हैं. सभी सदस्य का मतलब है सभी बेटियां, दामाद, नाती और नातिनें.

पूर्व सीएम राबड़ी देवी खराब स्वास्थ्य के बावजूद छठ पूजा कर रही हैं. इस मौके पर मीसा भारती सहित लालू प्रसाद की सभी बेटियां अपने बच्चों के साथ मायके आईं हैं.

बेटियों और उनके बच्चों के आने से लालू यादव के परिवार में एक अलग ही रौनक दिख रही है. बिल्कुल मेले सा माहौल है. सभी बच्चे खूब मस्ती कर रहे हैं.

लालू यादव भी बच्चों का साथ मिलने से खूब खुश हैं. और दोनों माना भी अपने भांजे—भांजियों के साथ एंज्वॉय कर रहे हैं. लालू जी के यहां छठ आवास पर ही होता है.

एक कुंड निर्मित है जिसमें राबड़ी देवी अर्घ्य देती हैं. वह शाम 4 बजे पहले पूजन सामग्रियों में सिंदूर लगाया और कुंड में सूर्य देव के पूजन के लिए उतर गईं.

वहां परिवार के सभी सदस्य मौजूद रहे. पुत्र तेजस्वी और तेजप्रताप. मीसा भारती सहित दूसरी बहनें. उनके पति भी. कुंड के मेड़ पर सारी पूजन साम्रग्रियां सजाकर रखी गई थीं और राबड़ी जी एक एक पूजन सामग्री को उठाकर सूर्यदेव को दिखाया और उपस्थित परिवार के सभी सदस्यों ने दूध से अर्घ्य अर्पित किया. लालू जी ने पीतल के पात्र से अर्घ्य अर्पित किया.

मीसा भारती एवं अन्य बहनों ने बच्चों को अर्घ्य दिलाने में मदद की.

छठ के पावन मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव एवं राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने सूबे की जनता को शुभकामनाएं दी हैं. कल सुबह उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा.