सिपाही भर्ती परीक्षा हो सकती है रद्द, सारण एसपी ने की है सिफारिश

छपरा :  सिपाही भर्ती के लिए पिछले 22 अक्तूबर को भर्ती परीक्षा आयोजित की गयी थी. लेकिन हुआ यह कि लिखित परीक्षा के एक दिन पहले प्रश्नपत्र लीक हो गया था. इस मामले में 21 अक्तूबर की रात सेटिंग-गेटिंग करनेवाले गिरोह के कई सदस्य गिरफ्तार किये गये थे. जब इनके पास से मिले उत्तर की जांच की गई तो उसे सही पाया गया. स्पेशल टास्क फोर्स ने भी इसकी इसकी पुष्टि कर दी.

सारण एसपी हर किशोर राय ने 22 अक्तूबर को आयोजित की गयी लिखित परीक्षा को रद्द करने की सिफारिश केंद्रीय चयन पर्षद से की है. एसपी ने इस बात की पुष्टि की कि एक दिन पहले गिरफ्तार सेटरों तथा परीक्षार्थियों के मोबाइल में मिले उत्तर को सही थे. केंद्रीय चयन पर्षद से प्राप्त प्रश्न पत्र से मिलान करने के बाद इसकी पुष्टि विशेषज्ञों ने भी की है.

उन्होंने बताया कि सोनपुर थाने की पुलिस ने सिपाही भर्ती की लिखित परीक्षा में सेटिंग-गेटिंग करनेवाले गिरोह के आधा दर्जन सदस्यों को 21 अक्तूबर की रात में गिरफ्तार किया था और गिरफ्तार सेटरों के पास से 30 परीक्षार्थियों के प्रवेशपत्र की छायाप्रति तथा मूल शैक्षणिक योग्यता का प्रमाणपत्र बरामद किए गए थे.

इस आधार पर 30 परीक्षार्थियों को छपरा समेत अन्य जिलों से गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तार परीक्षार्थियों तथा सेटरों के मोबाइल में परीक्षा के प्रश्नों के उत्तर लोड पाये गये थे. इसकी जांच के लिए केंद्रीय चयन पर्षद से प्रश्न पत्र मांगे गये थे. केंद्रीय चयन पर्षद ने जो प्रश्न पत्र उपलब्ध कराये हैं, उसी के उत्तर सेटरों तथा परीक्षार्थियों के मोबाइल में थे.

इसके साथ ही यह स्पष्ट हो गया है कि 22 अक्तूबर को आयोजित सिपाही भर्ती परीक्षा के एक दिन पहले ही प्रश्नपत्र लीक हो गया था. सिपाही भर्ती परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होने की पुष्टि हो चुकी है और इस मामले में कार्रवाई के लिए केंद्रीय चयन पर्षद तथा सरकार को पत्र लिखा गया है.

पुलिस अधीक्षक की रिपोर्ट के आलोक में केंद्रीय चयन पर्षद की ओर से आयोजित सिपाही भर्ती परीक्षा को रद्द करने की कार्रवाई होना लगभग तय माना जा रहा है. इस मामले में पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय ने सरकार को विस्तृत जांच रिपोर्ट भेज दी है.

जांच के लिए बना स्पेशल टास्क फोर्स :
एसपी ने इस मामले की जांच के लिए स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया है़. प्रश्नपत्र लीक कराने में किसकी-किसकी संलिप्तता है, इसकी जांच चल रही है़. सेटरों के पास से जब्त मोबाइल फोन के काल डिटेल्स खंगाले जा रहे हैं. पुलिस वैसे सभी मोबाइल नंबरों को चिह्नित कर रही है, जिनके व्हाट्सएप, मैसेंजर, हाइक पर सिपाही भर्ती परीक्षा के पहले उत्तर भेजे गये थे.