बाइकर्स की मनमानी पर DIG की ​ब्रेक, 7 घंटे तक चली चेकिंग

पटना : राजधानी की सड़कों पर बाइकर्स की मनमानी नहीं चलेगी. इनकी मनमानी पर सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने ब्रेक लगा दिया है. सोमवार को बाइकर्स ​के खिलाफ पटना की सड़कों पर पुलिस का बड़ा आॅपरेशन चला, वो भी पूरे 7 घंटे तक. खुद डीआईजी राजेश कुमार पूरी कार्रवाई की मॉनिटरिंग करते दिखे.

बोरिंग रोड चौराहा पर उनकी निगरानी में गाड़ियों की चेकिंग की गई. बाइकर्स के साथ ही फोर व्हीलर गाड़ियों को भी चेक किया गया. ये आॅपरेशन टाउन एरिया के साथ ही पटना के रूरल एरिया में भी चलाया गया. पूरे आॅपरेशन के दौरान अलग—अलग जगहों से कुल 80 बाइक को जब्त किया गया. जबकि 15 संदिग्ध बाइकर्स को पुलिस की टीम ने डिटेन किया. इन सभी से अब पूछताछ चल रही है. वहीं, बिना हेलमेट, लाइसेंस और दूसरे ट्रैफिक रूल्स के तहत 45 हजार रुपए का फाईन भी वसूल किया गया.

ये है चेकिंग का मेन मकसद

डीआईजी बाइकर्स गैंग पर पूरी तरह से लगाम लगाना चाहते हैं. इसके पीछे क्राईम कंट्रोल एक बड़ा मकसद है. दरअसल, राजधानी के अंदर अलग—अलग बाइकर्स गैंग एक्टिव हैं. जो चेन स्नेचिंग, मोबाइल स्नेचिंग, जमीन पर अवैध कब्जा कराने सहित दूसरे आपराधिक वारदातों को अंजाम देते हैं. बाइकर्स गैंग अब शराब की सप्लाई तक में लग गया है. कई बार बाइकस से शराब की सप्लाई करने जा रहे लोग पकड़े भी गए हैं. चेकिंग के जरिए इन सब पर पुलिस रोक लगाना चाहती है.

महंगी पड़ी लापरवाही

डीआईजी के आदेश पर सभी सिटी एसपी, रूरल एसपी, एसडीपीओ और एसएचओ रोड पर थे. सभी अपने—अपने एरिया में चेकिंग में जुटे थे. लेकिन पाटलिपुत्रा के थानेदार टीएन तिवारी अलग ही दुनिया में थे. डीआईजी के आदेश के बाद ही उन्होंने गाड़ियों की चेकिंग में लापरवाही बरती. अब ये लापरवाही उन्हें महंगा पड़ गया है. डीआईजी ने इस पूरे मामले में थानेदार से स्पष्टीकरण मांगा है.

बेहतर परफॉर्मेंस पर मिलेगा रिवॉर्ड

दूसरी ओर डीएसपी लॉ एंड आॅर्डर डा. मो. शिब्ली नोमानी, कोतवाली, बुद्धा कॉलोनी, एसके पुरी और रूपसपुर के एसएचओ पुरी तरह से एक्टिव दिखे. खासकर कोतवाली और रूपसपुर थाने के एसएचओ के परफॉर्मेेंस से डीआईजी राजेश कुमार काफी इंप्रेस हुए. जिस कारण दोनों के थानेदार को अब डीआईजी की ओर से रिवार्ड दिया जाएगा.