EXCLUSIVE : एक ही रात में पूरे परिवार ने खोई आँखों की रौशनी, गांव में दहशत

BUXAR

बक्सर (शशांक सिंह) : इटाढ़ी में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. रातोंरात एक ही परिवार के पांच लोगों की आंख की रोशनी गायब हो गयी. घटना की सूचना मिलते ही ग्रामीण दहशत में आ गये. तरह-तरह की चर्चाएं जोरों पर है. नेत्र विशेषज्ञों ने कहा कि जांच के बाद ही स्पष्ट कारणों का पता चल पायेगा. आंख की रोशनी गंवाने वालों में पिता-पुत्र, पुत्री और मां शामिल है.

मिली जानकारी के अनुसार इटाढ़ी थाना क्षेत्र के महिला गांव निवासी मोहन सिंह हैदराबाद से घर आ रहा था. इस दौरान कबाड़ी में उसे तीन-चार कपड़े पॉलिथीन में पैक मिला. जिसे वह अपने घर लेकर चला आया. इस दौरान घर पर कपड़े को धोने के लिए वह निकाला तो सभी परिवारों के आंख में जलन होने लगी. जिसके बाद उनकी आंखों की रोशनी गायब हो गयी.

BUXAR

मोहन सिंह ने बताया कि अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए वह हैदराबाद कमाने गया था. उसे किसी तरह कबाड़ी की दुकान में नौकरी मिल गया. घर-घर जाकर वह कबाड़ी खरीदता था. करीबन चार माह बाद वह अपने घर आने के लिए तैयार हुआ. इसी बीच उसका एक मित्र कबाड़ी के साथ पॉलिथीन में पैक कपड़े लेकर आया. पॉलिथीन खोलने के बाद उसे कपड़े ठीक-ठाक दिखे. कपड़ों को अपने बैग में रखकर घर महिला गांव चला आया. इसके बाद अपने बीबी-बच्चों को कपड़े दिखाया. पत्नी सभी कपड़ों को धोने लगी. तभी आंखों में जलन होने लगी.

इसके बाद धुंधला-धुंधला दिखायी देने लगा. जब तक समझ पाते तब तक आंखों के आगे अंधेरा छा गया. बीबी-बच्चे भी रोते रोते कुछ भी नहीं दिखायी देने की बात कहने लगे. इसके बाद चीख पुकार सुनकर अगल-बगल के लोग आये और देखकर दंग रह गये.कोई भी कपड़ों के पास जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं. इधर पीड़ित प्रशासन से मदद की गुहार लगा रहे हैं.

एसडीओं ने लिया संज्ञान, बची सभी की जान

सदर एसडीओं गौतम कुमार को जब लाइव सिटीज संवाददाता ने इसकी सूचना दी तो उन्होंने तुरंत संज्ञान लिया. मामले की जांच के लिए इटाढी बीडीओ, सीओ और सिविल सर्जन को जांच का जिम्मा दिया. एसडीओ गौतम कुमार ने सभी अधिकारियों को उनके गांव भेजा. जब तक मामले की पूरी जानकारी नहीं हुई तब तक वें अधिकारियों से बाते करते रहे. हालांकि जब स्थानीय थाने को इसकी सूचना दी गई तो उन्होंने मामले को अपने इलाके से बाहर का बताकर पल्ला झाड़ लिया. फिर कहा कि अगर गांव के लोग आवेदन देंगे तो उसपर कार्रवाई की जायेगी.

वहीं मामले को गंंभीरता से लेते हुए एसडीओ ने सिविल सर्जन से खुद देखने का निर्देश दिया है. एसडीओ गौतम कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. डाक्टरों की टीम को रवाना कर दिया गया है. सिविल सर्जन को इसे गंभीरता से लेने को कहा गया है.

इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को भी दे दिया गया है.