रेलवे ने काट दिए हैं क्षमता से चार गुना ज्यादा टिकट, स्टेशन पर हालात विस्फोटक

Train Engine Driver Failed In Alcohol test

लाइव सिटीज डेस्क : 15 हजार यात्री ट्रेन में नहीं चढ़ पाने के कारण मंझधार में फंस गये हैं. इन यात्रियों में रोजी-रोटी की तलाश में परदेस जाने वाले मजदूरों की संख्या ज्यादा है. ये लोग सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, पूर्णिया, खगड़िया आदि जिलों के हैं.

सभी स्टेशन पर ही तीन दिनों से रात-दिन जमे हुए हैं. स्थिति विस्फोटक है. लोगों का कहना है कि ट्रेन पर चढ़ने के दौरान भगदड़ की स्थिति हो जाती है. इसके कारण बड़ा हादसा हो सकता है.

शनिवार को हालात बेकाबू हो गया था, लेकिन पुलिस बल के कारण अप्रिय घटना होने से बचा. शनिवार की सुबह मजदूरों का धैर्य टूट गया, जिसके बाद ट्रेन रोकी दी. ट्रेन में एक बार में 26 सौ के बदले लगभग चार हजार यात्री ट्रेन पर सवार हो पाते हैं, लेकिन जितने लोग चढ़ते हैं, उससे ज्यादा नये यात्री बाहर से आ जाते हैं.

लोगों का धैर्य टूटा, तो स्थिति को संभालना मुश्किल हो जायेगा. सहरसा से अमृतसर के लिए रोजाना खुलने वाली जनसेवा एक्सप्रेस का हाल काफी बुरा है. 22 बोगियों वाली इस रेलगाड़ी में बमुश्किल 26 सौ लोगों के बैठने की सीट होती है. लेकिन पलायन के इस सीजन में इस पर रोज 15 हजार से अधिक यात्री सवार हो सफर कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें – 

करवाचौथ पर Lover को दें Princess Cut Diamond, चांद बिहारी ज्वैलर्स लाए हैं नया कलेक्शन

धनतेरस पर बेस्ट आॅफर दे रहे हैं हीरा-पन्ना ज्वैलर्स, Turkish जूलरी के साथ Gold Coin भी फ्री

स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI मेंअपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry

अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरीनया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स

PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदेंमुफ्त में मिलेगा GOLD COIN

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू

चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़ेआज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)