अफ्रीका के इंजीनियर जाचेंगे बिहार की सड़कों की क्वालिटी

लाइव सिटीज डेस्कः राज्य की ग्रामीण सड़कों की गुणवत्ता की जांच दक्षिण अफ्रीका के इंजीनियरों की टीम करेगी. दक्षिण अफ्रीका की टीम 22 से 26 जून तक यहां रहेगी. टीम सड़कों की जांच भी करेगी और अभियंताओं को प्रशिक्षण भी देगी. प्रशिक्षण कार्यक्रम में बांग्लादेश, म्यामांर और नेपाल के भी दो-दो प्रतिनिधि भाग लेंगे. राज्य में ग्रामीण सड़कों के निर्माण में विश्व बैंक से सहयोग मिलता है. बैंक के अधिकारी सड़क निर्माण से लेकर उसकी गुणवत्ता पर भी नजर रखते हैं.

बिहार ग्रामीण पथ विकास अभिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह सचिव संजय कुमार ने इस संबंध में बांका, कटिहार, दानापुर, मोतिहारी, सोनपुर, वायसी, अररिया, पटना, गोपालगंज और महनार के कार्यपालक अभियंता को पत्र लिखकर उनके कार्य प्रमंडल के उन अभियंताओं के नामों की सूची देनी है, जिनको इस जांच और प्रशिक्षण में भाग लेना है. जांच और प्रशिक्षण में कार्यपालक तथा सहायक अभियंता स्तर के अधिकारी भाग लेंगे. दक्षिण अफ्रीका की टीम डायनेमिक कोन पैंट्रोमीटर से सड़क की जांच करेंगे.

इससे सड़क का लेयर से लेकर मेटेरियल तक की गुणवत्ता की जांच होती है. 22 जून को अभियंताओं को जांच की पूरी प्रक्रिया की जानकारी दी जायेगी. 23 को पटना के आसपास सड़क निर्माण स्थल पर जाकर जांच होगी. इसके अलावा अभियंताओं को जांच एवं प्रशिक्षण की ट्रेनिंग मिलेगी. अभी राज्य में रोजाना 30 किलोमीटर सड़क का निर्माण हो रहा है. सड़क निर्माण में गुणवत्ता पर काफी जोर दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें-

बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद बीजेपी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार
सीता साहू ने रचा इतिहास, बनीं पटना की पहली महिला मेयर
राष्ट्रपति चुनाव पर बोले नीतीश : आम सहमति नहीं बनी, तो विपक्ष भी उतारेगा अपना उम्मीदवार