श्रावणी मेले से पहले खुली सुरक्षा की पोल, सुल्तागंज में बम ब्लास्ट

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार व झारखंड को जोड़ने वाला विश्वप्रसिद्ध श्रावणी मेला 10 जुलाई से शरू होनेवाला है. इसे लेकर भागलपुर के सुल्तानगंज से लेकर झारखंड के देवघर तक पर प्रशासन ही नहीं, दोनों सरकारों की नजर भी लगी हुई है. ऐसे में कांवरिया यात्रा के उद्गम स्थान सुल्तानगंज में हुए बम ब्लास्ट ने पूरे प्रशासन को हिला दिया है. प्रशासनिक महकमा सकते में है. चर्चा है कि जेल से छूटे बदमाशों ने शौचालय में बम छिपा कर रखा था. सफाई के दौरान विस्फोट कर गया.

बता दें कि बिहार के भागलपुर से झारखंड के देवघर तक फैले 108 किमी की यह कांवर यात्रा का उद्गम स्थान सुल्तानगंज है. इसका दो तिहाई भाग बिहार के हिस्से में आता है तो बाकी का मेला झारखंड सरकार के जिम्मे रहता है. इसे लेकर दोनों सरकार अपने अपने स्तर पर तैयारी करती है ताकि देशभर से आये कांवरियों को किसी प्रकार की कोई प्रॉब्लम नहीं हो. राज्यस्तर की बैठक कर हर पहलू पर विचार किया जाता है. सोमवार को ही मुंगेर के डीएम ने भी कअपने क्षेत्र का भ्रमण कर मेला की तैयारी का जायजा लिया.

इस विश्वप्रसिद्ध मेले की कड़ी सुरक्षा के प्रशासन की ओर से लगातार दावे किये जाते हैं. इसके बाद भी सुल्तानगंज में बम ब्लास्ट ने शहर ही नहीं, पूरे प्रशासन तंत्र को हिला कर रख दिया. सूत्रों के अनुसार सोमवार की देर शाम सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के बालू घाट रोड स्थित श्मसानी काली माता मंदिर के निकट सफाई के दौरान जबर्दस्त बम ब्लास्ट किया. मजदूर कुदाल से सफाई कर रहे थे. घटना में दो मजदूर सोनू मल्लिक व सुनील मल्लिक जख्मी हो गये हैं. दोनों को पहले स्थानीय रेफरल अस्पताल ले जाया गया. इनमें सोनू की हालत गंभीर देख उसे बेहतर इलाज के लिए भागलपुर भेजा गया है. बताया जाता है कि घायल सफाईकर्मी सोनू और सुनील सुल्तानगंज प्रखंड कार्यालय के सामने फुटपाथ पर बनी झोंपड़ियों में रहते हैं.

सूत्रों की मानें तो बम को हाल ही में जेल से बाहर निकले बदमाशों ने रखा है. बम धमाके से चिंतित पुलिस ने श्रवणी मेले को देखते हुए सरगर्मी बढ़ा दी है. सुनील ने पुलिस को जानकारी दी कि वहां पर आधा दर्जन मजदूर शौचालय की सफाई का काम कर रहे थे. एक मजदूर ने जैसे ही कुदाल चलाया बम ब्लास्ट कर गया. आवाज इतनी जोरदार थी कि पूर इलाका दहल गया. इसमें सोनू गंभीर रूप से जख्मी हो गया, ज​बकि उसे आंख एवं पैर में चोटें आयी हैं. इस घटना में वहां पर अन्य मजदूर पप्पू, फुदो, राजेश व दीपक बाल बाल बचे. वहीं पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें : मीरा कुमार 6 को आयेंगी पटना, नीतीश से मांगेंगी समर्थन  
इस सावन आप बोलबम जा रहे हैं तो देख लें क्या है चूड़ा-पेड़ा का नया रेट