अब टेंशन न लें मैट्रिक में फेल छात्र, 30 से स्क्रूटनी, इस महीने में आएगा रिजल्ट

लाइव सिटीज डेस्कः मैटिक परीक्षा की कॉपियों की स्क्रूटनी 30 जून से सूबे के 101 केंद्रों पर होगी. राजधानी में इसके लिए आठ केंद्र बनाए गए हैं. स्क्रूटनी का काम 15 जुलाई तक संपन्न करा लेना है. इसका रिजल्ट समिति की वेबसाइट biharboard.ac.in पर जुलाई के अंतिम सप्ताह में प्रकाशित करने का निर्णय लिया गया है. ताकि परीक्षार्थी को उच्च शिक्षण संस्थानों में दाखिला लेने में किसी तरह की परेशानी नहीं हो.

इस संबंध में शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आर के महाजन और बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने संयुक्त हस्ताक्षर से सभी जिलाधिकारी तथा जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र जारी किया है. इसमें कहा गया है कि लगभग आधे परीक्षार्थी फेल हो गए हैं. इस कारण काफी संख्या में स्क्रूटनी के लिए आवेदन मिलेंगे. जिसका निराकरण तत्काल करने के लिए विशेष तैयारी की दरकार होगी.

डीएम की देखरेख में होगी स्क्रूटनी

जिले में स्क्रूटनी का काम संबंधित जिलाधिकारी की देखरेख में संपन्न होगा. नोडल पदाधिकारी के रूप में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (माध्यमिक शिक्षा) प्रतिनियुक्त किए जाएंगे. इसकी निगरानी अपर समाहर्ता स्तर के अधिकारी से कराई जाएगी. शिक्षा विभाग प्रत्येक जिले में एक-एक नोडल पदाधिकारी प्रतिनियुक्त करेगा, जो पूरी अवधि के दौरान जिले के सभी मूल्यांकन केंद्राधीक्षकों और जिला प्रशासन के बीच समन्वय स्थापित करेंगे.

केंद्रों पर तैनात होंगे मजिस्टेट और पुलिस बल

स्क्रूटनी केंद्रों पर पर्याप्त संख्या में सीसीटीवी कैमरे और वीडियोग्राफी की व्यवस्था होगी. अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक रहेगी. किसी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए केंद्रों पर मजिस्ट्रेट और पुलिस बल तैनात किए जाएंगे. इसकी व्यवस्था वरीयता स्तर पर करने का निर्देश जिलाधिकारी को दिया गया है.

 

यह भी पढ़ें-

मैट्रिक की कंपार्टमेंटल परीक्षा 27 जुलाई से
बिहार बोर्ड के बाहर मैट्रिक में फेल स्टूडेंट्स का प्रदर्शन