नालंदा एसपी कुमार आशीष की ‘चलो पाठशाला’, जमीन पर बैठ बच्चों संग खाया मिड-डे-मील

बिहारशरीफ/नालंदा (रंजीत कुमार) : नालंदा एसपी आशीष कुमार ने एक अनूठी पहल की है. ये पहल समाज के उन बच्चों के लिए है, जो बुनियादी समस्याओं से जूझ रहे हैं. आर्थिक तंगी की वजह से उनके माता-पिता उन्हें स्कूल भेजने में सक्षम नहीं है. उनके भविष्य की परवाह करने वाला कोई नहीं है. वैसे बच्चों के खातिर नालंदा पुलिस ने एक अभियान शुरू किया है. अभियान का नाम रखा गया है ‘चलो पाठशाला’.

इस अभियान के तहत आज शुक्रवार को जिले के दीपनगर थाना के तुंगी मध्य विद्यालय परिसर में नालंदा पुलिस द्वारा चलाये जा रहे सामुदायिक पुलिसिंग अभियान के तहत कुल 89 जरूरतमंद बच्चों को स्कूल बैग, किताब, कॉपी, कम्पास जैसी कई सामग्री मुहैया कराई गयी. लाभांवित वैसे बच्चे हैं, जो किसी कारणवश स्कूल नहीं जा पा रहे हैं. मौके पर पुलिस कप्तान कुमार आशीष ने कहा कि बच्चे देश के भविष्य होते हैं. इसलिए इन बच्चों की पढ़ाई के प्रति रुचि एवं मनोबल को बढ़ाने की जरूरत है. जिसके लिए नालंदा पुलिस सदैव तत्पर है. पुलिस को आप अपना मित्र समझें.

एसपी कुमार आशीष ने शिक्षा की अलख जगाने की शुरुआत ‘चलो पाठशाला’ अभियान से की है. जिसकी समाज में सराहना की जा रही है. इस अवसर पर कुल 89 जरूरतमंद बच्चों को पाठशाला पहुंचाकर एक तरह का शंखनाद किया गया. एसपी कुमार आशीष ने अपने संबोधन में कहा कि अगर समाज को अपराधमुक्त व नशामुक्त बनाना है तो उसकी शुरूआत शिक्षा के बल पर ही की जा सकती है.

इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक ने शराबबंदी एवं तमाम तरह की नशाबंदी के खिलाफ जन-जागरूकता अभियान का भी आगाज़ किया. बता दें कि इस गांव से पूर्व में भी शराब बनाने एवं बेचे जाने की लगातार शिकायतें मिली थीं. जिसका उन्मूलन करने के लिए आज इस अभियान की शुरुआत यहां से की गयी. लोगों के बीच नशामुक्त समाज बनाने की पर्ची बांटकर नालंदा पुलिस ने नशामुक्त हो समाज अपना का संदेश देने की कोशिश की है.

एसपी संग बच्चों ने स्कूल में खाया मिड-डे-मील

तुंगी मध्य विद्यालय में एसपी कुमार आशीष एवं डीएसपी निशित प्रिया के साथ बच्चों ने जमीन पर बैठकर मिड-डे-मील खाया. न अलग से कोई बर्तन न बंद बोतल वाला पानी. इस अवसर पर गिरियक अंचल निरीक्षक सुनील सिंह, दीपनगर थानाध्यक्ष राहुल, प्रधानाध्यापक मुनव्वर आलम, प्रभारी शिक्षक वेद प्रकाश, राहुल सिंह, सतेंद्र सिंह, शिक्षाविद विकास, अजहर, अमितेश, अमजद आदि उपस्थित थे.

यह भी पढ़ें-

सबसे सस्ता 4G फीचर फ़ोन लांच कर JIO ने रचा इतिहास, कीमत ZERO
पहले यात्रियों की शिकायत थी, अब CAG ने भी माना- रेलवे का खाना खाने योग्य नहीं