सासाराम में लुटेरों की शामत, लोगों ने रतजग्गा कर एक को पकड़ा, भीड़ ने फूंकी बाइक

सासाराम (राजेश कुमार) : सासाराम शहर में रात के वक्त राहगीरों को लूटने वाले गिरोह की आखिर शुक्रवार की देर रात शामत आ ही गयी. पिछले तीन दिनों से शहर के अड्डा रोड में रात के वक्त गुजरने वाले राहगीर बाइक सवार लुटेरों के कोपभाजन बन रहे थे. पुलिस में की गयी शिकायत जाया गयी. फिर करनसराय मुहल्ला के लोगों ने रतजग्गा करने का मन बनाया. और पहली रात में ही उनका प्रयास सफल रहा.

शुक्रवार की रात अड्डा पर घात लगाये मुहल्लावासियों को एक अपाची बाइक पर सवार तीन युवकों की गतिविधियां संदिग्ध दिखीं. पैदल जा रहे एक राहगीर को लुटेरों ने टेक लिया. फिर तो सबकुछ देख रहे मुहल्लावासी उन पर टूट पड़े. दो का संयोग कहे कि अपनी बाइक छोडकर फरार हो गए. परंतु तीसरा लोगों के हत्थे चढ़ गया. पुलिस को सूचना देने के बाद भी उसे आने में डेढ़ घंटे लग गए. लोगों की बढ़ती भीड़ का नतीजा हुआ कि पकड़े गये युवक की जम कर पिटाई हो गयी. बेकाबू हुई भीड़ ने उनकी बाइक तक आग के हवाले कर दिया.

पुलिस के पहुंचने तक धू-धू कर जलती बाइक राख में तब्दील हो गयी. मौके पर पहुंची पुलिस ने भीड़ के चंगुल से पकड़े गए लुटेरे को मुक्त करा इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया. इस संबंध में हुई पूछताछ में पकड़े गए युवक ने अपना नाम जिउत कुमार साह, पिता सज्जन साह, ग्राम सगरा, थाना राजपुर जिला बक्सर बताया है. हालाकि पुलिस को उसके वास्तविक पहचान पर संदेह है और वह अपने स्तर से उसकी पहचान स्थापित करने के लिए बक्सर जिले की पुलिस से संपर्क साधे हुई है. पकड़े गये युवक से पूछताछ में संभव है कि फरार हुए लुटेरों की पहचान सामने आये.

करनसराय मुहल्ले के लोगों के अनुसार पिछले तीन रात से अड्डा-शेरगंज रोड में बाइक सवार लुटेरा गिरोह का आतंक मचा हुआ था. लुटेरे राहगीरों से विशेषकर उनकी मोबाइल पर ज्यादा चोट करते थे. इसकी सूचना लूट के भुक्तभोगियों ने पुलिस में भी दी थी. हालांकि सासाराम नगर थाने की पुलिस ऐसी किसी सूचना से साफ़ इनकार करती है. पुलिस की उदासीनता से मुहल्ले के लोगों ने रतजग्गा कर लुटेरों को सबक सिखाने का प्लान बनाया और उन्हें सफलता हासिल हुई.

इसे भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर लोगों की पहली पसंद बिहार की बेटी मीरा कुमार 
कोविंद को समर्थन पर बोले रघुवंश प्रसाद सिंह- नीतीश कोई तोप नहीं हैं