खतरे में कुर्सी, पर बेफ्रिक बच्चों संग क्रिकेट खेलते दिखे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव

लाइव सिटीज डेस्क: सीबीआई द्वारा पिछले दिनों भ्रष्टाचार के मामले में बिहार के उप-मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ एफआईआर किए जाने के बाद से विपक्षी पार्टियों ने उनके इस्तीफे की भी मांग शुरू कर दी. इसके बाद मंगलवार को जेड़ीयू की मीटिंग भी हुई लेकिन खुद तेजस्वी इस बात से बेअसर नजर आए.


मंगलवार को जहां बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू और तेजस्वी पर लगे करप्शन के आरोपों के बाद पार्टी के विधायकों, सांसदों और जिला पदाधिकारियों की बेठक बुलाई वहीं खुद तेजस्वी यादव किसी भी तरह से चिंतित नजर नहीं आए.


तेजस्वी ने खुद अपने ट्विटर अकाउंट पर अपनी 4 तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनमें वो बच्चों के साथ क्रिकेट खेलते नजर आ रहे हैं. इन तस्वीरों को शेयर करते हुए तेजस्वी ने लिखा ‘खेलो और मजे करो. गेम को एन्जॉय करो क्योंकि स्पोर्ट्स आपका करेक्टर बनाता नहीं है, बल्कि उसे दर्शाता है’.


बता दें कि लालू यादव और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के यहां सीबीआई छापों के बाद ये बड़ी बैठक बुलाई गई. इससे पहले सोमवार को आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने आरजेडी विधायकों की बैठक बुलाई थी. इस बैठक में फैसला हुआ कि तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे.


आज जेडीयू बैठक से पहले नीतीश कुमार के करीबी संजय झा ने कहा कि नीतीश ने अपने राजनीतिक जीवन में हमेशा जीरो टॉलरेंस ऑन करप्शन की नीति अपनाई है, नीतीश ने कभी इस नीति से समझौता नहीं किया है. उन्होंने कहा कि आगे भी इस नीति से कोई भी समझौता नहीं होगा, चाहे कोई भी व्यक्ति हो.


बीजेपी के नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि तेजस्वी यादव के इस्तीफा देने से इंकार करने के बाद अब नीतीश कुमार के पास एक ही विकल्प बचा है कि वे तेजस्वी यादव को अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दें.

सुशील मोदी ने नीतीश कुमार से सवाल किया कि क्या इस बार भी वो नैतिकता के आधार पर फैसला लेंगे और तेजस्वी को बर्खास्त करने की हिम्मत दिखाएंगे?