नीरज सिंह हत्याकांडः शूटर अमन ने उगले राज, कहा- एक गोली पर हुई थी एक लाख की बात

लाइव सिटीज डेस्कः धनबाद के हाई-प्रोफाइल एक्स डिप्टी मेयर व कांग्रेस नेता हत्याकांड मामले में पुलिस की पूछताछ में शूटर अमन ने कई खुलासे किए हैं. नीरज सिंह हत्याकांड मामले में पुलिस पूछताछ में शूटर अमन सिंह ने फिर स्वीकारा कि उसने मिर्जापुर जेल में बंद रिंकू के कहने पर पंकज से फोन पर बात की. उससे कहा गया कि धनबाद में एक बड़े आदमी की हत्या करनी है, काफी पैसे मिलेंगे. उसने पंकज से फोन पर बात की तो कहा कि 50 लाख मिलेंगे.

अमन ने बताया कि पंकज के कहने अनुसार वह धनबाद पहुंचा. धनबाद में पंकज उसे एक घर में ले गया जहां तीन लोग पहले से मौजूद थे. ये तीनों सतीश, विजय व मोनू थे. तीनों के साथ हत्या की रणनीति बनी. ब्रेकर के पास हत्या करनी थी, वह जगह दिखायी गयी. उसने कहा कि नीरज सिंह पर गोलियां उसी ने चलायी और सबसे ज्यादा गोलियां मारी.

पुलिस की पूछताछ में अमन ने बताया कि पंकज ने पूरी वारदात का खाका तैयार किया था. लेकिन मौका-ए-वारदात पर किसको क्या करना है,ये तय खुद मैने किया था. हत्या की वारदा को अंजाम देने से पहले स्टीलगेट में आकर वहां का जायजा लिया गया. तय खाका के मुताबिक किसको क्या करना है, कैसे करना है, इन बातों की प्लानिंग हुई. मोनू को चालक पर निशाना साधने की जिम्मेवारी दी गई,वहीं अमन और सतीश को नीरज सिंह पर निशाना लगाना था,वहीं विजय का काम वाहन पर सवार अन्य लोगों पर गोली चलाने का था. सारा काम इस तय खाका के ही मुताबिक हुआ.

नीरज सिंह का वाहन जैसे ही स्पीड ब्रेकर के पास रुका, मोनू ने चालक पर गोली चला दी. पहले से ही वाहन की गति काफी धीमी थी,गोली लगने के बाद वाहन रुक गया,इधर बिना वक्त गंवाए ही वाहन के ठीक सामने खड़े सतीश ने भी ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी,जबकि दाहिने तरफ खड़े अमन ने बिलकुल नजदीक से नीरज सिंह पर गोलियों की बौछार कर दी. पचास से भी अधिक गोलियां दोनों के पिस्टल ने महज कुछ क्षणों में ही उगल दिए.

पैसे नहीं मिले तो फिर चलेंगी गोलियां

अमन ने कहा कि जिस पैसे के लिए जान जोखिम में डालकर धनबाद आकर गोली चलाई, यदि वह पैसा नहीं मिलेगा तो एक बार फिर गोली चलेगी. आखिर पैसे के लिए ही तो गोली चलाई थी. उधर रविवार की रात के लगभग एक बजे. स्थान पीएमसीएच धनबाद. सादे लिबास में दो इंस्पेक्टर और दो आरक्षी शूटर अमन सिंह को लेकर पहुंचे. उसकी स्वास्थ्य जांच कराई जा रही थी.

कुछ दवाइयां भी लिखी गईं. इमरजेंसी में बहुत ही हल्के माहौल में ये सब चल रहा था. तभी यह सूचना फैली कि यही तो शूटर अमन सिंह है,जिसने नीरज सिंह और उसके साथियों को गोली से छलनी किया था. इमरजेंसी में मौजूद सभी लोगों की निगाह सीधे उसकी तरफ चली गई.

यह भी पढ़ें-
नीरज सिंह हत्याकांड : सीबीआई जांच की उम्मीद बढ़ी, राजनाथ सिंह ने दिया आश्वासन
 मुख्य शूटर अमन सिंह गिरफ्तार , यूपी एसटीफ को मिली सफलता
नीरज सिंह हत्याकांड : भाजपा विधायक संजीव ने दी थी शूटर अमन को सुपारी!