दहेज लौटाने वाले हरींद्र को सीएम ने लगाया गले, कहा-ये हैं समाज के लिए मिसाल

पटना : शराबबंदी के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दहेजबंदी अभियान भी रंग लाने लगा है. इसका असर लोगों पर पड़ने लगा है. सीएम नीतीश कुमार के दहेज विरोधी अभियान के समर्थन में अब लोग सामने आने लगे हैं. इसी कड़ी में आरा के हरींद्र सिंह ने लड़के की शादी के लिए ली गयी दहेज की रकम लौटा दी. वे इसे लेकर रविवार को सीएम नीतीश कुमार से पटना में भेंट की.

बता दें कि नीतीश कुमार ने आरा में इसी माह 4 अक्टूबर को आयोजित महायज्ञ में बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के खिलाफ चलाये जा रहे सशक्त अभियान को सफल बनाने की अपील की थी. उन्होंने कहा था कि लोगोें का सहयोग मिलेगा, तो निश्चित तौर पर बाल विवाह एवं दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों से समाज को छुटकारा मिलेगा. ये कुरीतियां सदा के लिए समाज से मिट जायेंगी.

मुख्यमंत्री के आह्वान पर भोजपुर स्थित बरनांव गांव के रहनेवाले पूर्व प्रधानाध्यापक हरींद्र सिंह ने अपने पुत्र प्रेम रंजन की शादी के लिए लड़की वालों की तरफ से दिये गये दहेज की राशि को लौटा दिया. इसकी प्रशंसा स्थानीय लोग ही नहीं, बल्कि खुद नीतीश कुमार ने भी की. हरींद्र सिंह के पुत्र की शादी 3 दिसंबर को कोईलवर निवासी प्रमोद सिंह की पुत्री कुमारी अनुराधा के साथ होनी है.

समाज के लिए मिसाल बने हरींद्र सिंह ने आज पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके 1 अणे मार्ग स्थित आवास पर मुलाकात की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने उनके इस पहल पर काफी प्रसन्नता व्यक्त की. उनसे गले लगकर उनका अभिवादन किया. सीएम ने कहा कि हरींद्र कुमार सिंह का यह कदम समाज के लिए नजीर होगा. सीएम ने यह भी कहा कि बाल विवाह एवं दहेज प्रथा के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में उनकी सक्रिय सहभागिता ली जायेगी. सीएम आवास पर हरींद्र सिंह के साथ जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, भोजपुर के जिला जदयू अध्यक्ष अशोक शर्मा, उदवंतनगर प्रखण्ड अध्यक्ष राकेश सिंह समेत हरींद्र सिंह के छोटे पुत्र राजीव रंजन सिंह भी उपस्थित थे.