आरा में धड़ल्ले से होती NH पर अवैध वसूली, विरोध करने पर लहूलुहान कर देते हैं दबंग

आरा(पुष्कर पांडेय) : भोजपुर जिला के आरा शहर में इन दिनों अवैध वसूली का खेल धड़ल्ले से चल रही है. बस, ट्रक और चार पहिया वाहनों से अवैध रूप से पैसे वसूले जाते हैं. खासकर बाहर से आ रही गाड़ियों पर खूब जोर-आजमाइश होती है. दबंगों का कहर ऐसा है कि अगर चालक ने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट भी की जाती है. आज मंगलवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ. यूपी के ड्राइवर से जमकर मारपीट की गई. जख्मी कर दिया उसे. कसूर था कि उसने पैसे देने से मना कर दिया.

दरअसल बस स्टैंड के पास ये पूरा खेल चलता है. वसूली होती है. एनएच के रास्ते आती गाड़ियों को टैक्स देना पड़ता है. वो भी जबरन. इसी कड़ी में आज यूपी से पिकअप का चेचिस लेकर पटना जा रहे चालक को रंगबाजों द्वार पीटा गया. सर फोड़ दिया गया. दरअसल अवैध वसूली की जा रही थी. ड्राइवर ने कानून का हवाला दिया तो उसे धुन दिया. सबने मिलकर. सुनने को मिला है कि बांस और लोहे के रड से पिटाई की गई है.

घटना में गंभीर रूप से जख्मी ड्राइवर को राहगीरों द्वारा सदर अस्पताल पहुंचाया गया. जानकारी के मुताबिक जख्मी उत्तर प्रदेश के औराई जिला के भदोही थाना क्षेत्र के भैरोपुर गांव निवासी चालक राम रेखा तिवारी के पुत्र रामप्यारे तिवारी हैं. हालत चिंताजनक बताई जा रही है. चालक का आरोप है कि पिटाई के बाद मेरे पॉकेट से पैसे भी अवैध वसूली करने वालों ने निकाल लिया.

शहर में नया नहीं है वसूली का खेल

बस स्टैंड रोड में चूंगी के नाम पर अवैध वसूली करने वालों का खेल कोई नया नहीं है. अक्सर रात के अंधेरे में वसूली का काला खेल चलता रहता है. जो चालक अपने वाहनों का रुपया दे देते हैं वह तो वहां से ठीक ठाक निकल जाते हैं. लेकिन जो पैसे का डिमांड पूरा नहीं करते उनके साथ यही सलूक होता है. एेसे कई मामले पहले भी सामने आये हैं. जब चालक को पिटाई के बाद अस्पताल पहुंचाया गया है.

 

एसपी के एक्शन के बावजूद भी धंधा जारी

ऐसा नहीं है कि कारवाई नहीं होती है. समय-समय पर अवैध वसूली के काले खेल में शामिल धंधेबाजों को पकड़ने के लिए पुलिसिया कार्रवाई भी होती रही है. तत्कालीन SP NC झा एवं वर्तमान भोजपुर के पुलिस कप्तान क्षत्रनील सिंह ने अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की थी. दोनों पुलिस कप्तानों के समय स्थानीय पुलिस ने रंगदारों को पकड़ कर जेल भेजा था. बावजूद रात्रि पहर प्रतिदिन हजारों रुपए वसूलने का खेल थमने का नाम नहीं ले रहा है.

क्या कहता है कानून

एनएच के रास्ते आवागमन करने वाले वाहनों से वसूली करने का कोई प्रावधान नहीं है. यदि वह निगम में प्रवेश नहीं करते हैं तो. बावजूद इसके वाहनों से वसूली की जा रही है जो कंपनी से निकाल कर शोरूम में पहुंचाए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें-

अगर स्टार्ट अप का आइडिया है तो संपर्क करें, बिहार सरकार देगी आपको फ्री लोन
पटना से जा रहे वैन व पूर्णिया से आ रही बस में टक्कर