बेतिया पहुंचे रेल राज्य मंत्री, उम्मीदें हुईं पूरी

बेतिया : दिन के लगभग 11:00 बजे, स्टेशन पर चहल-पहल साथ ही स्थानीय नेताओं का जमावड़ा .मौका था रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के बेतिया आगमन का.बेसब्री से लोग उनकी बाट जोह रहे हैं और ऐसा हो भी क्यों ना,आखिर बेतिया शहर का सपना जो पूरा होने वाला है. शहरवासियों का यह सपना था इस शहर में भी एक ओवरब्रिज हो जिस पर होकर वह आ जा सके.

अपने शहर में भी डीजल इंजन की जगह इलेक्ट्रिक इंजन की सुविधा हो ताकि इलाका विकास से जुड़ सके.इधर  बेतिया पहुंचते ही रेलमंत्री का जोरदार स्वागत होता है और वे लोगों से रूबरू होते हैं.

बेतिया के परिपेक्ष्य में इन योजनाओं पर लाभ की चर्चा करते हुए स्टेशन से सीधा परिसर स्थित कार्यक्रम स्थल की ओर रेल राज्यमंत्री का आगमन होता है,

जहां पहुंचकर रेल राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा ने बेतिया के कल्याणार्थ कई योजनाओं का उद्घाटन किया.बता दें कि इन योजनाओं के इंतजार में बेतियावासी कई वर्षों से हलकान हुए जा रहे थे. इन समस्याओं के चलते शहरवासियों को हमेशा परेशानी का सामना करना पड़ता था.

जहां छावनी जाम के महाजाल में फंसकर घंटों पसीने बहाने पड़ते थे,वहीं डीजल इंजन के चलते ट्रेन की रफ्तार कम होने से कई घंटे अधिक ट्रेन में ही बिताने पड़ते थे, दूसरी ओर सामान लदे माल ट्रेनों का जो जत्था बेतिया स्टेशन पर रुकता था और कई दिनों तक ट्रकों की आवाजाही से सड़कों की कचूमर निकल जाती थी.
धूल के साम्राज्य से आसपास के लोगों को बड़ी परेशानी होती थी ,वह समस्या भी बेतिया वासियों के लिये बहुत बड़ी थी,लेकिन रेल राज्यमंत्री के बेतिया आगमन पर जब इन योजनाओं का शिलान्यास हुआ तो लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई.अब बेतिया में भी ओवरब्रिज होगा.अब बेतिया के रेलवे ट्रैक भी बिजली वाली सुविधा से लैस होगी,
अब रैक प्वांइट भी बेतिया से दूर व्यवसायिक क्षेत्र में चला जाएगा .ऐसा सोचकर बेतिया वासी फूले नहीं समा रहे. ऐसा हो भी क्यों ना आखिर शहरवासियों के सपने जो पूरे होने वाले हैं.
यह भी पढें-फर्जी कंपनी बना कौड़ियों के भाव खरीद ली करोड़ों की जमीन
                  नया खुलासा : फिरौती की रकम के बंटवारे में हुआ बबलू दुबे का मर्डर !