बिहार में नहीं हो रहा है विकास : मांझी

manjhi
हवेली खड़गपुर(सुनील जख्मी) : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सह हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने बुधवार को हवेली खड़कपुर प्रखंड के तेलियाडीह पंचायत अंतर्गत पुरुषोत्तमपुर गांव का दौरा किया और आम लोगों को संबोधित करते हुए कहां कि बिहार में विकास नहीं हो रहा है. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर ब्रांडिंग में व्यस्त होने व लालू प्रसाद पर पारिवारिक सदस्यों से सरकार चलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार सरकार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी से सीख लेना चाहिए, जिन्होंने अखिलेश यादव के ढाई सौकरोड़ के ड्रिम प्रोजेक्ट को रद्द कर उत्तर प्रदेश के किसानों का कर्ज माफ किया.
उन्होंने कहा बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार अपने ब्रांडिंग करने के लिए शराबबंदी, गांधी सत्याग्रह शताब्दी समारोह, ढाई सौ करोड़ का नया म्यूजियम, कंवेंशन हॉल, बुद्धा पार्क ऐसे कई योजनाएं कर रही है जिससे गरीबों को कोई लाभ होने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि गांधी का सत्याग्रह किसानों के हित के लिए था लेकिन नीतीश कुमार किसानों के हित के लिए कोई काम नहीं कर रहा है. उन्होंने कहा नीतीश ने कृषि रोड मैप तैयार किया उसका क्या हुआ ? उन्होंने कहा कि वे किसानों  को तीन सौ रुपये बोनस देना चाहते थे किंतु नीतीश कुमार उसे घटाकर तीस रुपये कर दिया.
बिचौलिया किसानों का धान का क्रय कर मालामाल हो रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा शराबबंदी होनी चाहिए लेकिन अब तक कोई शराब माफिया नहीं पकड़ा है. एक बोतल दारू वाला पकड़ा जाता है. एके-47 रखने वाले, दुष्कर्म के आरोपी को 7 साल की सजा है, लेकिन शराबियों के लिए 10 वर्ष की सजा मुकर्रर की गई है. अब तक 42 हजार लोगों को जेल भेजा गया है जिसमें अधिकांश लोग गरीब तबके के हैं.  बिहार में अपराध बढ़ा है. शराबबंदी से सरकार को पांच हजार करोड का घाटा हुआ है इस घाटे की पूर्ति सरकार आम लोगों पर टैक्स लगा कर वसूल करना चाहती हैं. बालू माफिया मौज कर रहे हैं. बिहार में जो भी दुष्कर्म के मामले थाने में आते हैं, उस पर एफआईआर नहीं होता है. ऐसे मामलों की लीपापोती की जाती हैं.
 नीतीश कुमार अंतरराष्ट्रीय नेता बनने में लगे हैं तो लालू प्रसाद एक बेटे को उपमुख्यमंत्री, एक को स्वास्थ्य मंत्री, बेटी को राज्य सभा भेज कर परिवार को सेटल्ड करने और परिवारिक सदस्य के माध्यम से सरकार चलाने में व्यस्त  हैं. जनता का ख्याल किसी को नहीं है.
पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की उन्हें 30 अप्रैल को ही  हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के मुंगेर के जिला अध्यक्ष मुकेश मांझी की पुत्री ज्योति कुमारी के शादी में शामिल होने आना था किंतु पत्नी के अस्वस्थ हो जाने के कारण वे शादी समारोह में नहीं आ पाए थे.
आज का दौरा उस शादी समारोह की क्षतिपूर्ति के साथ आम जनता को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा का आगामी 20 मई को होने वाले कार्यक्रम में आमंत्रित करना भी उद्देश्य था . उन्होंने जनता से कहा अब मुझे जो भी करना है आपके लिए करना है. हमारा मुख्यमंत्री बनने के साथ ही सब कुछ हो गया. इस अवसर पर उप समाहर्ता भूमि सुधार कुमार धनंजय, बीडीओ विनय कुमार, सीओ पूर्णेन्दु वर्मा, इंस्पेक्टर रिजवान अहमद खान, इंस्पेक्टर सह थाना अध्यक्ष राजेश शरण, जिला अध्यक्ष मुकेश मांझी, प्रखंड अध्यक्ष भवेश यादव, भुनेश्वर मांझी, दयानंद मांझी, कैलाश दास, निरंजन मांझी, रामजीवन मांझी, श्रवन मांझी सहित कई कार्यकर्ता थे.
यह भी पढ़े – बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल सिंह शराब पीते गिरफ्तार
                     पप्पू ने कहा : जवानों को नहीं, देश को लूट रहे नेताओं को मारें माओवादी