अफसरों के नहीं सुनने से गुस्से में मधेपुरा, लोगों ने सड़क पर किया पौधारोपण

मधेपुरा (रूपेश कुमार ) : विकास कार्य में कितना पिछड़ा हुआ है मधेपुरा, यह फोटो में भी देखने से पता चल जाता है. सड़क पर बने बड़े-बड़े गड्ढों ने जीना मुहाल कर दिया है. जनप्रतिनिधियों से भी गुहार लगाकर लोग थक चुके हैं. लेकिन कोई उनकी बातों को सुननेवाला नहीं हैं. अधिकारियों का भी इस पर ध्यान नहीं जा रहा है. इससे लोग आक्रोशित हैं.

दरअसल जिले में सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढों से तंग लोगों की परेशानी लगातार मूसलधार बारिश ने और अधिक बढ़ा दी है. इसे लेकर लोगों में काफी आक्रोश है. आक्रोश इस बात का है कि उनकी बातों को न अधिकारी सुनते हैं और न ही विधायक. इधर बारिश ने उन गड्ढों को पोखर व तालाब में तब्दील कर दिया है. ऐसे में लोगों ने उन गड्ढों में अब पौधारोपण कर अपना विरोध कर रहे हैं.

जानकारी के अनुसार सिंहेशवर प्रखंड के शर्मा चौक से बिरेली जाने वाली सड़क पर जलजमाव का निदान नहीं होने पर स्थानीय लोगों ने सड़क पर पौधा लगा कर विरोध जताया है. सिंहेश्वर के रोड नंबर 18 के दुकानदारों ने कहा कि आश्वासन सुन कर इतना थक चुके हैं कि अब बर्दाश्त नहीं होता है. दुकान के सामने कीचड़ और पानी में पौधा लगा कर प्रशासन के खिलाफ विरोध दर्ज कराया गया है.

बताते चलें कि लंबे समय से इस सड़क की हालत बदतर है. कहीं-कहीं तो घुटने तक पानी लगा रहता है. बीते वर्ष तय समय के अंदर सड़क मरम्मती की बात कही गयी थी. तब बरसात के बाद मेंटेनेंस के तहत निर्माण करने वाली कंपनी से मरम्मत कराए जाने की बात आरईओ के कार्यपालक अभियंता ने कही थी. वहीं इस बार लगभग दो हफ्ते पूर्व डीएम ने मंदिर परिसर में आयोजित एक बैठक में सावन से पहले पीसीसी सड़क बन जाने की बात कही थी, लेकिन अब तक सड़क निर्माण नहीं हो पाने से स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए. इस पौधारोपण के मौके पर राजू सोनी, रंजीत गोस्वामी, संजय स्वर्णकार, आशीष कुमार भगत, मनोज कुमार भगत, पंकज स्वर्णकार, प्रकाश गोस्वामी, राहुल कुमार सहित वार्ड नंबर 13 के सभी दुकानदार मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : राजद की बैठक में हो गया फैसला, तेजस्वी नहीं देंगे इस्तीफा 
सीएम आवास में बढ़ी सरगर्मी, नीतीश से मिलने पहुंचे ललन सिंह व वशिष्ठ नारायण सिंह