फिर बादल दगा दे गए, मौसम विभाग बोला- राजधानी से अभी दूर है मॉनसून

पटनाः दक्षिणी-पश्चिमी मानसून बिहार के पूर्वी हिस्से में पहुंचने के साथ वहीं ठिठका हुआ है. रविवार को कहीं भी अच्छी बारिश होने की सूचना नहीं है. भागलपुर और आसपास बादल बने हुए हैं. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि पटना और राज्य के अन्य हिस्सों में मानसून पहुंचने में और तीन से चार दिन लग सकते हैं.

रविवार को पूरे बिहार में मौसम ड्राई रहा

रविवार को समूचे बिहार में मौसम ड्राई रहा. धूप फिर से तल्ख हुई. इसकी वजह से सभी जिलों के अधिकतम तापमान में वृद्धि हुई. पटना का तापमान करीब तीन डिग्री बढ़कर 40.2 तथा गया का तापमान करीब दो डिग्री बढ़कर 41.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया. भागलपुर और पूर्णिया का तापमान भी एक से डेढ़ डिग्री बढ़ा है.

लोगों के लिए सबसे बड़ी परेशान रही उमस. राजधानी पटना समेत आस-पास के इलाकों में उमस बढ़ने से लोगों को बारिश की उम्मीद थी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. सारी रात आसमान में बदलों के आने-जाने का सिलसिला लगा रहा. एक तो गर्मी उपर से भारी उमस की वजह से लोग काफी परेशान रहे.

मालूम हो कि मानसून की अच्छी बारिश इस समय पूर्वोत्तर राज्यों अरुणाचल, मेघालय, नागालैंड, असोम, मणिपुर, त्रिपुरा में हो रही है. मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक सोमेंदु सेन गुप्ता के मुताबिक पटना तथा अन्य हिस्सों तक मानसून के पहुंचने में अभी और तीन से चार दिन लग सकते हैं. वैसे भी मानसून ने चार से पांच दिन की देरी से बिहार में प्रवेश किया है. बिहार में इसके पहुंचे का समय अमूमन 12, 13 जून माना जाता है लेकिन इस बार इसने 17 को बिहार में प्रवेश किया है. हालांकि इस बार 96 फीसदी बारिश का पूर्वानुमान है.

यह भी पढ़ें-

बिहार में प्री-मॉनसून ने दी दस्तक, अगले तीन दिनों तक होती रहेगी बारिश !
पटना में तेज आंधी के साथ झमाझम बारिश, भीषण गर्मी से मिली राहत