नगर निकाय चुनाव : टेंपरेचर 44 डिग्री तो वोटर ’54 डिग्री…’

लाइव सिटीज डेस्क : मई की तपती दोपहरिया व भीषण गर्मी पर वोटरों का उत्साह भारी पड़ रहा. जिलों में 40 से 44 डिग्री टेंपरेचर रहने के बाद भी वे मुहल्ले की सरकार चुनने के लिए बेचैन हैं. वोटिंग करने के लिए वे गमछा से लेकर छाता तक लगा कर निकल रहे हैं. वहीं लड़कियां स्टोल बांध कर बूथ पर पहुंच रही हैं. दोपहर तीन बजे तक सूबे में 54 परसेंट वोट पड़ चुके हैं. यही वजह है कि लोग मजाक में कह भी रहे हैं कि टेंपरेचर 44 डिग्री तो वोटर 54 डिग्री…!

बता दें कि रविवार को हो रही वोटिंग को लेकर सुबह से ही पूरे सूबे के वोटरों में उत्साह है. क्या भागलपुर, क्या गया और क्या जहानाबाद, सब जगह एक सा नजारा दिख रहा है. हर जगह लोगों में गजब का उत्साह है. मुंगेर, खगड़िया, सासाराम, जमुई, मधुबनी, गोपलगंज, सहरसा की भी कमोबेश यही स्थिति है. भीषण गर्मी का वोटरों के मन मिजाज पर कोई असर नहीं पड़ रहा है. वे घंटों लाइन में लग कर भी अपनी बारी का इंतजार बखूबी कर रहे हैं.

Bagha
बगहा में धूप के बाद भी लगी है वोटरों की लंबी लाइन

फोटो देखें तो पता चलता है कि ग्रामीण वोटर जहां माथे पर गमछा बांध कर पहुंचे हैं, तो कुछ लोग छाता लगा कर वोट डालने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं. लड़कियां भी स्टोल बांध कर वोट देने के लिए बूथ पर पहुंची हैं. उनकी यह भी शिकायत है कि जिस तरह से भीषण गर्मी पड़ रही है. धूप अपनी चरम स्थिति में है. तापमान मैक्सिमम रिकॉर्ड बनाने को बेताव है, लेकिन मतदाताओं का उत्साह उससे भी कहीं अधिक रिकॉर्ड की ओर है.

गोपालगंज में भी वोटरों में दिखा उत्साह.

मौसम विभाग की मानें तो शनिवार की तरह ही सूबे का तापमान 40 से 44 डिग्री के बीच चल रहा है. पटना में जहां 43, तो गया में 44 डिग्री मैक्सिमम टेंपरेंचर रविवार को रहा है. वहीं मुंगेर, भागलपुर, बेगूसराय आदि जिलों में भी 40 से 42 डिग्री के आसपास मैक्सिमम टेंपरेचर रहा है. ऐसे में धूप में निकलने पर लगता है, पूरा शरीर जल जायेगा. इसके बाद भी वे मुहल्ले की सरकार बनाने तथा उसे दशा व दिशा देने के लिए वोटर बूथ पर लाइन लगा कर खड़े हैं. वोटरों की मानें तो इसी तरह का उत्साह जीतनेवाले उम्मीदवारों में भी रहना चाहिए. लेकिन जीतने के बाद उम्मीदवारों को जनता से कोई मतलब ही नहीं रहता है. उधर बिहार राज्य चुनाव आयोग के अनुसार दोपहर तीन बजे तक 54 परसेंट वोटिंग हो चुकी थी.

तेज धूप के बाद भी गया में डटे रहे जवान