पटना के एक और थानेदार पर गिरी गाज, जीरो माइल के ट्रैफिक इंस्पेक्टर सस्पेंड

पटनाः लगता है पटना के थानेदारों पर शनि भारी है. हालात कुछ ठीक नहीं चल रहे. राजधानी में शुक्रवार के एक और थानाध्यक्ष नप गए. सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने गांधी मैदान स्थित यातायात थाना के इंस्पेक्टर के बाद, अब जीरो माइल ट्रैफिक थानेदार रविंद्र राम को सस्पेंड कर दिया है. ये कार्रवाई जीरो माइल से न्यू बाईपास तक लगने वाले भीषण जाम और गांधी सेतु पर ट्रैफिक को कंट्रोल न कर पाने की वजह से की गई है. बताया जा रहा है कि जीरो माइल के ट्रैफिक इंस्पेक्टर रविंद्र राम पर थाना मैनेज न कर पाने का भी आरोप है.

मालूम हो कि पटना के थानेदारों के दिन अभी बहुत खराब चल रहे हैं. पिछले कई दिनों से रोज कोई न कोई निपट ही जा रहा है. गुरुवार की रात पाटलिपुत्रा थाना के थानेदार संजीव शेखर झा पर गाज गिरी थी. आज शुक्रवार को पटना के गांधी मैदान स्थित यातायात थाना के इंस्पेक्टर शशि शेखर चौहान सस्पेंड कर दिए गए. और अब जीरो माइल के ट्रैफिक थाना के इंस्पेक्टर पर गाज गिरी है.

बता दें कि राजधानी पटना जाम की समस्या से रोज हलकान होता है. पटना हाईकोर्ट ने इधर जाम को लेकर गंभीर रुख एख्तियार किया है. पुलिस अधिकारियों से जवाब तलब किया जा रहा है. हाईकोर्ट के रुख को देख पटना में जाम से निपटने में पुलिस की भूमिका की समीक्षा की गई. यह पाया गया कि यातायात थाना कोई काम तो करता ही नहीं है.

राजधानी पटना में यातायात को नियंत्रित करने में इनके अधिकारी कहीं भी सक्रिय नहीं दिखते हैं. जाम की बड़ी वजह अतिक्रमण व वाहन चालकों/सड़क पर धंधा करने वालों की मनमानी भी है. कई जगहों पर पुलिस की मिलीभगत की शिकायतें भी रही हैं. मालूम हो कि पिछले दिनों जक्कनपुर, रूपसपुर, फतुहा व बेऊर के थानेदार भी सस्पेंड किए जा चुके हैं.

रोज जाम से हलकान है पटना, हाईकोर्ट भी है नाराज
भूल से भी न छू लेना शराब, गुस्से में हैं नीतीश बाबू, एक्शन में हैं मनु महाराज
मणिभूषण सेंगर को लाइफ थ्रेट मामले में हाईकोर्ट नाराज, राज्य सरकार और DGP से मांगा है जवाब