रंग लायी मेहनत : पिता ने खेती कर पढ़ाया, पुत्र कर गया बिहार में टॉप, छोटा बेटा भी जिले में 5वें स्थान पर

बेटे को मिठाई खिलाते पिता रामकुमार सिंह

लाइव सिटीज डेस्क/लखीसराय (संजीव) : बिहार के लखीसराय का मानो गांव आज अचानक चर्चा में आ गया. उसी गांव के छात्र प्रेम कुमार ने मैट्रिक में टॉप किया है. पूरा गांव खुशी से इतरा रहा है. उसे गांव के लाडले प्रेम कुमार पर हर किसी को गर्व है. खास कर पिता रामकुमार के लिए दोहरी खुशी है. उसके छोटे ​बेटे रौनेश ने भी जिले में पांचवां स्थान लाया है.

खास बात कि प्रेम कुमार के पिता राम कुमार सिंह खेती करते हैं. रात-दिन मेहनत कर उन्होंने दोनों बेटों प्रेम कुमार व रौनेश कुमार को पढ़ाया. उनकी मेहनत रंग लायी. मेहनत का ही परिणाम है कि मानो गांव निवासी रामकुमार सिंह के घर में दोहरी सफलता मिली है. बड़ा बेटा प्रेम बिहार में टॉप कर गया तो छोटा बेटा रौनेश जिले में 5वां स्थान पर रहा.

पिता रामकुमार के साथ बिहार टॉपर प्रेम

प्रेम कुमार ने लाइव सिटीज को बताया कि स्कूल के अलावा गांव के ही टीचर से ट्यूशन पढ़ता था. हालांकि उसे उम्मीद थी कि अच्छा रिजल्ट आयेगा, लेकिन टॉप करना उसके लिए किसी सरप्राइज से कम नहीं था. वह अपने रिजल्ट से काफी खुश है तथा वह भविष्य में आइएएस बनना चाहता है. प्रेम ने बताया कि 12 से 14 घंटे तक पढ़ाई करता था.

बेटे को मिठाई खिलाते पिता रामकुमार सिंह

छोटे भाई रौनेश के रिजल्ट पर प्रेम ने कहा कि छोटा भाई पढ़ने में उससे कमजोर था तथा वह पढ़ाई के लिए पिताजी से डांट भी सुनता था. हालां​कि डांट तो हमें भी पड़ती थी. पिता रामकुमार सिंह ने लाइव सिटीज को बताया कि पढ़ाई के लिए डांट बहुत जरूरी है. डांटेंगे नहीं तो पढ़ेंगा कैसे. वहीं प्राचार्य ने बताया कि प्रेम पढाई में शुरू से ही तेज था. उसे साइंस विषय में ज्यादा लगाव था.

इसे भी पढ़ें : Bihar Board ने जारी किया मैट्रिक का रिजल्ट, यहां एक क्लिक पर देखें नतीजे 
मैट्रिक में फेल छात्र इस तारीख से करें स्क्रूटनी का आवेदन