प्राइमरी टीचरों को वेतन के लिए अभी और करना होगा इंतजार, मई से है बकाया

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में प्राइमरी स्कूल के टीचरों को पिछले दो माह से वेतन नहीं मिला है. जुलाई तीसरा माह है. इस माह भी अब नहीं मिलने की उम्मीद है. उन्हें वेतन के लिए अभी और इंतजार करना होगा. केंद्र ने अब तक सर्वशिक्षा अभियान की राशि नहीं भेजी है. इसमें अभी और देर लगने की संभावना है.

दरअसल बिहार में कक्षा एक से आठ तक चलनेवाले प्राइमरी स्कूलों के टीचरों का वेतन भुगतान सर्वशिक्षा अभियान के तहत होता है. बिहार शिक्षा परियोजना परिषद (BEP) के माध्यम से वेतन का भुगतान किया जाता है. बता दें कि सर्वशिक्षा अभियान की राशि से बिहार के 2.66 लाख प्राइमरी टीचरों को वेतन भुगतान किया जाता है.

विभाग के अनुसार प्राइमरी टीचरों को फिलहाल अप्रैल तक का वेतन दिया गया है. मई और जून का बाकी है. BEP को उम्मीद थी कि जुलाई मध्य तक केंद्र सरकार सर्वशिक्षा अभियान की राशि भेज देगी. लेकिन बीच में नया बखेड़ा खड़ा हो गया है. इससे राशि भेजने में और अधिक देर लगने की संभावना है.

जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने कुछ दिन पहले BEP से पूर्व में दी गयी राशि का डिटेल्स मांगा था. इसके लिए नया फॉर्मेट भेजा गया था. हालांकि BEP ने खर्च का पूरा डिटेल्स भी भेज दिया है, लेकिन अब तक केंद्र की ओर से राशि नहीं भेजी गयी है. सूत्रों की मानें तो बकाये वेतन के भुगतान में अभी और देरी लगती है.

गौरतलब है कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में सर्वशिक्षा अभियान के तहत 10 हजार 555 करोड़ रुपये सूबे के लिए स्वीकृत हैं. इसमें केंद्र को 60 परसेंट देना होता है, जबकि बाकी के 40 परसेंट बिहार सरकार को देना है. मिली जानकारी के अनुसार इस मद में केंद्र ने अब तक महज 850 करोड़ ही दिये हैं. वहीं इस मद में इसी के अनुरूप बिहार सरकार ने 566 करोड़ जारी किये हैं.

इसे भी पढ़ें : सेवाशर्त तैयार : आप इंटर कॉलेज में टीचर हैं तो बीएड कर लें, फायदे में रहेंगे 
मिसाल : स्कूल में टीचर नहीं था, अब DM की साइंटिस्ट पत्नी फ्री में ले रहीं क्लास