देखें Secret Letter : झटके से खत्म कर देगी रेलवे 11000 नौकरी

लाइव सिटीज डेस्क : वायदे तो रोजगार के अवसर बढ़ाने के थे. लेकिन हो रहा है उल्टा. अब तक प्राइवेट सेक्टर से खबरें आती थीं. लेकिन नई खबर रेल मंत्री सुरेश प्रभु के रेलवे बोर्ड से है. देश मान रहा है कि भारतीय रेल का बहुत अधिक विस्तार होना है. जरुरत भी है. ऐसे में, रोजगार के अवसर बढ़ते. पर, यहां तो रेलवे बोर्ड ने सीधे-सीधे वित्तीय वर्ष 2017-2018 में करीब 11000 पद खत्म कर देने का निर्णय कर लिया है. सभी रेलवे जोन के टारगेट तय कर दिए गए हैं, जो निर्देशानुसार काम भी कर रहे हैं.

देश के संज्ञान में पहले आ चुका है कि 23 बड़े रेलवे स्टेशनों की नीलामी की प्रक्रिया चल रही है. ये पहला चरण है. आशय यह कि बोली लगाने वालों को ऑपरेशन्स के लिए 23 रेलवे स्टेशन मिल जायेंगे. ऐसे में, भारतीय रेल में नौकरी के अवसर और भी कम होंगे. निजी क्षेत्र किसी आरक्षण पद्धति को भी नहीं मानेगा. आपकी जानकारी को भारतीय रेल देश को सबसे अधिक रोजगार का अवसर अब तक प्रदान करता रहा है.

लाइव सिटीज को JNU के एसोसिएट प्रोफेसर गंगा सहाय मीणा के माध्यम रेलवे बोर्ड का वह सीक्रेट लेटर प्राप्त हुआ है, जिसके आधार पर 11000 पद को समाप्त करने की कार्यवाही चल रही है (देखें फ़ोटो). रेलवे बोर्ड का यह पत्र स्पष्ट कर रहा है दक्षिण-पूर्व-मध्य रेलवे जोन को 400 पद समाप्त करने के लिए कहा गया है, जबकि सेंट्रल और ईस्टर्न रेलवे को 1000-1000 पद, ईस्ट कोस्ट रेलवे को 700, नॉर्दन रेलवे को 1500, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे को 150, नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे को 700, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे को 300, ईस्ट सेंट्रल रेलवे को 300, नॉर्थ ईस्टफ्रंटियर रेलवे को 550 पद खत्म करना है.

इसी तरह सदर्न रेलवे को 1500, साउथ सेंट्रल रेलवे को 800, साउथ ईस्ट सेंट्रल और साउथ ईस्टर्न रेलवे को 400-400 पद, साउथ वेस्टर्न रेलवे को 200, वेस्टर्न रेलवे को 700 और वेस्ट सेंट्रल रेलवे को 300 पद खत्म करने को कहा गया है. बिहार के दृष्टिकोण से यह खबर इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाती है, क्योंकि भारतीय रेल को सबसे अधिक सेवा देने वाले बिहार के युवा होते हैं. ऐसे में, जब नौकरियों के पद कम होंगे, तो अधिक कॉम्पेटिशन के बाद भी भर्ती कम ही होगी.

यह भी पढ़ें-
लालू प्रसाद पर बरसे पप्पू यादव, कहा  उनसे व्यवहारिक बातों की उम्मीद नहीं
हैवानियतः समस्तीपुर में 9वीं की छात्रा को जिन्दा जलाया, पटना में मौत