सीता साहू ने रचा इतिहास, बनीं पटना की पहली महिला मेयर

लाइव सिटीज डेस्कः फैसला हो गया है. एनडीए खेमे से सीता साहू पटना नगर निगम की पहली महिला मेयर चुनी गईं हैं. वहीं महागठबंधन पाले से रजनी देवी को करारी हार का सामना करना पड़ा है. सुबह से ही पटना समाहरणालय में गहमा-गहमी की स्थिति बनी हुई थी. सबसे पहले पार्षदों को शपथ दिलाई गई. जिसके बाद मेयर का चुनाव हुआ.

पटना के लिए आज का दिन एतिहासिक दिन रहा. पहली बार कोई महिला मेयर की चेयर पर काबिज हुई है. इसे लेकर महिलाओं में काफी खुशी देखी जा रही है. प्रभारी डीएम अजय कुमार की देखरेख में मेयर का चुनाव संपन्न कराया गया. इसे लेकर सुरक्षा का व्यापक इंतजाम किया गया था. चुनाव के दौरान किसी को अंदर जाने की इजाजत नहीं थी.

रविवार को दिन भर चला रुठने-मनाने का खेल

बता दें कि चुनाव से ठीक एक दिन पहले दोनों गुटों में रुठने-मनाने का दौर चला था. इस दौर में दोनों गुटों ने बराबर बाजी मारी. जहां भाजपा गुट ने महागंठबंधन के ही नीलेश मुखिया (पार्षद पति) गुट को अपने पक्ष में कर लिया, वहीं देर शाम जदयू गुट ने मजबूती दिखायी और मेयर की उम्मीदवार रही माला सिन्हा को अपने पक्ष में कर लिया.

बाद में सीता साहू और रजनी देवी को छोड़ सभी महिला प्रत्याशियों ने अपने नाम वापस ले लिए. इससे मेयर चुनाव में आमने सामने की टक्कर हुई. बता दें कि सीता साहू वार्ड 58 से पार्षद का चुनाव जीती हैं. एनडीए खेमे से खड़ी सीता साहू को 38 वोट मिले. जबकि रजनी देवी को 35 वोट मिले. दो वोटों को अवैध घोषित किया गया.

 

यह भी पढ़ें-
पटना की पहली महिला मेयर पर फैसला आज, जानिए कौन-कौन आगे है रेस में ?
पटना : मेयर चुनाव के लिए जोड़-तोड़ चालू है, पर अनंत सिंह खामोश हैं