महानंदा व अर्चना एक्सप्रेस पर रोड़ेबाजी, 30-35 यात्री चोटिल, पुलिस ने लाठियां बरसायीं

आरा स्टेशन पर मंगलवार की सुबह प्रदर्शन कर रहे छात्र.

आरा (पुष्कर पांडेय) : दानापुर रेल मंडल के आरा रेलवे स्टेशन पर महानंदा व अर्चना एक्सप्रेस ट्रेनों पर इंटर के परीक्षार्थियों ने जमकर रोड़ेबाजी की. इस घटना के बाद अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया और कई यात्रियों को छात्रों द्वारा चलाए गए ईंट-पत्थर से चोट भी लगी. बाद में काफी मशक्कत से छात्रों को शांत किया गया और दोनों ट्रेनें खुलीं. इसमें 30 से 35 यात्री चोटिल हो गये हैं. घायलों में पटना के भी कई यात्री शामिल हैं.

बताया जाता है कि इंटरमीडिएट के खराब रिजल्ट को लेकर छात्रों ने मंगलवार की सुबह महानंदा एवं अर्चना एक्सप्रेस पर अपना गुस्सा उतारा. करीब 20 मिनट तक छात्रों का उत्पात आरा स्टेशन पर जारी रहा. अफरातफरी के माहौल से कुछ पल के लिए तो पुलिस भी सकते में आग यी थी. लेकिन आनन फानन में पुलिसवाले हरकत में आए और उन्होंने उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए लाठियां बरसानीं शुरू कर दीं.

आरा स्टेशन पर मंगलवार की सुबह प्रदर्शन कर रहे छात्र.

अप मेन लाइन पर महानंदा एक्सप्रेस पहले से खड़ी थी. इसी दौरान इंटर के परीक्षार्थियों ने हंगामा मचा दिया और खराब रिजल्ट का हवाला देते हुए जमकर रोड़ेबाजी शुरू कर दी. इसके कारण महानंदा एक्सप्रेस में बैठे यात्रियों को चोटे आयीं. इसके साथ ही पीछे अप से जाती हुई अर्चना एक्सप्रेस ट्रेन में भी पथराव कर करीब 30 से 35 यात्रियों को जख्मी कर दिया. सबसे ज्यादा अर्चना एक्सप्रेस ट्रेन के एस वन बोगी में बैठे यात्रियों को चोटें आयीं हैं.

इस घटना को लेकर प्लेटफॉर्म संख्या एवं प्लेटफॉर्म संख्या दो दोनों पर अफरातफरी का माहौल कायम रहा. अर्चना एक्सप्रेस ट्रेन बक्सर की ओर रवाना हो गयी. बताया जा रहा है कि सुबह करीब 9 बजे जैसे ही अप लाइन पर अर्चना एक्सप्रेस एवं महानंदा एक्सप्रेस जाने लगी, तभी नाराज छात्र आक्रोशित हो गए और बिना कुछ समझे प्लेटफॉर्म के नीचे से रोड़ा उठा कर पथराव शुरू कर दिया. इसे देखते ही स्टेशन पर तैनात पुलिस बल के जवान एक्शन में आ गए और उपद्रवी छात्रों पर लाठी बरसाते हुए उन्हें खदेड़ना शुरू कर दिया.

ट्रेनों के खुलने के बाद भी जुटा हुआ है छात्रों का हुजूम.

पथराव में गर्दनीबाग पटना के सतनाम सिंह, सदलपुर के राकेश कुमार के 6 वर्षीय पुत्र विशाल कुमार, पटना जिले के जतनपुर से लालदास राय, वैशाली के बिंदेश्वरी सिंह को गंभीर चोटें आई हैं. इस संबंध में स्टेशन प्रबंधक सुनील कुमार जैन ने कहा कि इस तरह की घटना निंदनीय है. पैसेंजर से दुश्मनी यह ठीक नहीं है. रेलवे प्रशासन कतई बर्दाश्त नहीं करेगा.

आरा रेलवे स्टेशन पर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत 3 साल से रेलवे में नहीं निकल रहे वैकेंसी की मांग को लेकर अभ्यार्थियों के एक बड़े वर्ग ने कुछ मिनटों के लिए महानंदा एक्सप्रेस को स्टेशन पर रोके रखा. इसी दौरान इस भीड़ में इंटर परीक्षा में फेल हुए छात्र भी शामिल हो गए और गुस्से में आकर उन्होंने पीछे मेन लाइन पर आकर 1 मिनट के लिए रुकी अर्चना एक्सप्रेस जैसे ही खुली ट्रैक से ईंट पत्थर उठाकर चलाना शुरू कर दिया. इसके कारण अर्चना एक्सप्रेस के S-1 बागी में बैठे करीब आधा दर्जन तथा अन्य बोगी में बैठे तीन दर्जन यात्रियों को गंभीर चोटें आयी. किसी का सिर फटा किसी के हाथ पर ईंट पत्थर लगे.

इसे भी पढ़ें : इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट परीक्षार्थियों का पूरे प्रदेश में हंगामा
नीतीश भी बोले : हो रही है सिस्टम की जांच, अब होम सेंटर पर प्रैक्टिकल नहीं
AISF ने किया इंटर काउंसिल कार्यालय का घेराव, चक्का जाम, सीएम से मांग रहे हैं जवाब