जब फफक-फफक कर रो पड़े कटिहार के मेयर, कहा सर्वेक्षण मनगढंत

mare
कटिहार(डी के वत्स) : शहरी विकास मंत्रालय के सौजन्य से एक निजी संस्था के द्वारा स्वच्छता के लिए कटिहार को 434 शहरो के लिए हुए सर्वेक्षण में 430 वां स्थान मिलने को लेकर एक पार्क के उद्घाटन के दौरान कटिहार के मेयर विजय सिंह बच्चों की तरह फफक-फफक कर  रो पड़े. वहा मौजूद जिला पदाधिकारी मिथिलेश मिश्र के द्वारा उन्हें चुप कराया गया. सर्वेक्षण के सच पर उन्होंने सवाल खड़े किये है. निजी संस्था के सर्वे को गलत बताया और कहा कि कटिहार को जितना गन्दा  बताया गया है, वैसी हालात कटिहार की नहीं है. उनका कहना है कि  निश्चित तौर पर सर्वेक्षण मे त्रुटी है और रिपोर्ट को गलत प्रस्तुत किया गया है.
मेयर विजय सिंह ने भी सर्वे की रिपोर्ट पर सवाल उठाते हुए कहा कि सर्वे वालो ने गलत तरीके से मार्किंग की है. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि अगर शहरी विकास मंत्रालय किसी सशक्त माध्यम या स्वतंत्र एजेंसी से इसकी जांच कराये तो दूध का दूध और पानी का पानी सामने आ जायेगा. उन्होंने दावा किया कि कटिहार की तुलना अगर अन्य शहरो से करे तो कटिहारआज भी साफ सुथरा है. उन्होंने दावा किया कि एसे गलत सर्वे से कटिहार की जनता गुमराह नहीं होगी और इसका उनके ऊपर कोई असर भी नहीं पड़ता है कहा वे निरन्तर कार्य करते  है और आगे भी करते रहेंगे. उन्होंने स्पष्ट कहा कि अब वे और बेहतर तरीके से कार्य करेंगे. कहा कि अभी भी थोड़ी कमी है जिसका वो बहुत जल्द निदान निकालेंगे.
mare
उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, सहरसा, पूर्णिया सहित  अन्य जिलों से कटिहारवासी  खुद तुलना करें. कहा कि गलत रिपोर्ट से कार्य करने वालो का मनोबल छोटा होता है. भरोसा दिलाया कि उनके कार्य करने की पद्धति मे सुधार करेंगे. जदयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने भी इस रिपोर्ट को झूठ का पुलिंदा बताते हुए कहा कि जिस बनारस शहर की रैंकिंग पूर्व में 200 से ऊपर था आज वो 38 वां है. चूँकि यह प्रधानमंत्री का लोकसभा क्षेत्र है इसलिए सर्वे वालो ने रैंकिंग मे सुधार कर दिया है. उन्होंने कहा कि इस तरह के मनगढंत सर्वे से शहरी विकास मंत्रालय की सच्चाई और साख पर प्रश्रचिन्ह लगता है.
यह भी पढ़े –
आरा में शराबी पिता ने डेढ़ साल की बेटी का घोंट डाला गला, गिरफ्तार
गोपालगंज में मन्दिर के लिए मुस्लिमों ने दान की अपनी जमीनें