ट्रिपल मर्डर : छपरा में तीन लोगों की गोली मार कर हत्या

हत्या के गम में रोते बिलखते परिजन

लाइव सिटीज डेस्क : छपरा की आपराधिक घटना ने एक बार फिर सूबे को हिला दिया है. पूरा पुलिस महकमा स्तब्ध हो गया है. छपरा में तीन लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी गयी है. अपराधियों ने बमबाजी भी की है. घटना के पीछे जमीनी विवाद बताया जा रहा है. इस ट्रिपल मर्डर से पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी है. पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है. तीनों मृतक एक ही परिवार के हैं. मरेनवालों में दादा दादी व पोता शामिल हैं.

बताया जाता है कि बीती देर रात छपरा स्थित गड़खा के नारायणपुर में उस समय अफरातफरी मच गयी, जब गोलियों से तीन लोगों को भून दिया गया. जमीन विवाद में बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया है. सूत्रों की मानें तो सभी लोग घर के दरवाजे पर साये हुए थे. इस वारदात में पारस राय 80 वर्ष, उनकी पत्नी वसमतिया देवी 75 वर्ष और पोता बिजेन्दर राय की मौके पर ही मौत हो गयी.

हत्या के गम में रोते बिलखते परिजन

सूत्रों के अनुसार इस वारदात के दौरान अपने बेटे बिजेन्दर को बचाने गये राजेशवर राय को भी दो गोली लगी है. उनकी पत्नी सुशीला देवी भी जख्मी हो गयी है. उनकी बेटी पल्लवी को भी अपराधियों ने मारपीट कर जख्मी कर दिया है. सभी का इलाज गड़खा के पीएचसी में करने के बाद छपरा रेफर कर दिया गया है.

गांव में घटना का जायजा लेते पुलिस अधिकारी

घटना रात करीब एक बजे की है. ग्रामीणों के अनुसार जब घर के लोग खाना खा कर सोय हुए थे, तभी अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग एवं गोली बारी करने लगे. अपराधियों ने बम भी पटके हैं. बताया जाता है कि 25 राउंड से ज्यादा फायरिंग हुई है. घटना की सूचना मिलते ही छपरा के एसपी स्थल पर पहुंच गये हैं. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए कई थानों की पुलिस को बुला दिया गया है. पूरे गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है.

पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील
इसे भी पढ़ें : नैंसी हत्या मामले में दुष्कर्म या एसिड अटैक की बात को डीएसपी ने किया खारिज