हैवानियत : पहले लड़की के पीछे ट्रैक्टर दौड़ाया फिर जिंदा दफन करने की कोशिश

पटना/समस्तीपुर(राजू गुप्ता): जिले के रोसड़ा से दिल दहला देेने वाली वारदात सामने आई है. दंबगई और हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए एक लड़की को ट्रैक्टर से कुचलने और उसके बाद उसे जिंद दफन करने की कोशिश की गई है.



इस घटना को जमीनी विवाद से जोड़ कर देखा जा रहा है. मिट्टी तले दबी लड़की को बेहोशी एवं जख्मी हालत में परिजन व  ग्रामीणों ने मिलकर निकाला. लड़की की स्थिति नाजुक बतायी जा रही है .बेहतर इलाज के लिए दरभंगा रेफर कर दिया गया है.  पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. गोविंदपुर वासी अजीम अंसारी व उनके बगलगीर अमित साह के बीच काफी दिनों से जमीनी विवाद चल रहा है. अजीम अंसारी के घर निर्माण का कार्य चल रहा था .

 

जिसे रोकने अमित साह अपने कुछ आदमियों के साथ आया. अजीम ने कार्य को रोकने से इंकार कर दिया.  जिसके बाद दोनों मेे हाथापाई होने लगी .हाथापाई को देख अजीम की पत्नी व लड़की खुशबू प्रवीण बीच -बचाव के लिए आ गयीं . यह देख अमित साह ने साथ लाये मिट्टी से लदा ट्रेक्टर से पहले खुशबू को कुचलना चाहा .भागने के क्रम में में खुशबु गड्ढे में गिर गयी. खुशबू को गड्ढा में गिरता देख अमित साह ने अपने ट्रेक्टर का पूरा मिट्टी उस गड्ढे में डाल दिया और वहां से चलता बना .लगभग 8 फिट गहरे गड्ढे  में दफ़न होता देख खुशबू के परिजन ने मदद के लिए काफी जोर -जोर से शोर मचाना शुरू कर दिया.

शोर-शराबा सुनकर आस-पड़ोस के लोग इकट्ठा हो गये. लोगों ने जैसे-तैसे 1 घंटे बाद खुशबू को गड्ढे से बाहर निकाला.खुशबू की हालत काफी बिगड़ गई.आनन फानन में लोग जख्मी खुशबू को अनुमंडलीय अस्पताल लाये . जहां उसकी स्थिति को नाजुक देखते हुए चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार कर उसे दरभंगा डीएमसीएच रेफर कर दिया. घटना की सूचना पाकर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है. लड़की की मां साबड़ा खातून के बयान पर रोसड़ा थाना में मामला दर्ज किया गया है. जिसमे अमित साह ,रामसेवक साह एवं आदित्य साह को नामजद अभियुक्त बनाया गया है . थानाध्यक्ष मुनीर आलम ने बताया कि यह काफी जघन्य अपराध अपराध है.

दोषियों पर कड़ी कारवाई की जायेगी.