पकड़ाने के डर से खुले में शौच कर रहे लोग नदी में कूदे, दो लापता, बीडीओ को ग्रामीणों ने बनाया बंधक

सासाराम (राजेश कुमार) : स्वच्छता मिशन के तहत पूर्ण स्वच्छता की ओर अग्रसर रोहतास जिले के चेनारी थाना क्षेत्र के खुरमाबाद में गुरुवार की सुबह स्तब्ध कर देने वाली घटना घटी. इसे लेकर जिला प्रशासन की भद पिट गयी है. घटना को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है.

विरोध में उग्र ग्रामीणों ने चेनारी के बीडीओ को बंधक बना लिया है. वहीं गया-वाराणसी को सीधे जोड़ने वाले जीटी रोड को जाम कर ग्रामीण डीएम-एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े हुए हैं. सडक जाम से पूरब में शिवसागर तो पश्चिम में कुदरा तक वाहनों की मीलों तक लंबी कतार लग गयी है. जाम में काफी संख्या में पर्यटकों के वाहन फंसे हुए हैं.

जानकारी के अनुसार इन दिनों खुले में शौच करनेवालों के विरुद्ध जिला मुख्यालय से अक्सर ओडीएफ की टीम निकल रही है. उक्त टीम का पूरे जिले में खौफ है. उसी क्रम में गुरुवार को टीम जीटी रोड पर निकली थी. जिले के सीमावर्ती गांव खुरमाबाद में स्कूल के पास कुछ लोगों को खुले में शोच करते टीम के सदस्यों ने खदेड़ा. इससे खौफ में उनमें से चार लोगों ने पास से होकर गुजरी कुदरा नदी की उफनती धारा में छलांग लगा दी. उनमें से 3 बच्चे हैं. बच्चों की उम्र लगभग 8 से 12 वर्ष है. वहीं एक खुरमाबाद के ही 30 वर्षीय शिवजी साह शामिल थे.

बताया जाता है कि शिवजी तो तैर कर बाहर निकल आए, लेकिन उनका एक पैर टूट गया है. वहीं बच्चों में एक रामवचन का पुत्र किसी तरह बाहर निकल आया है. लेकिन दो बच्चों का अब तक पता नहीं चल रहा है. एहतियातन तौर पर भारी संख्या में पुलिस बल को वहां तैनात किया गया है. इस संबंध में थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने बताया कि बच्चों को गोताखोरों की मदद से ढूंढ़ा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : जदयू सांसद बोले, नेशनल एक्सीडेंट है नीतीश का मोदी से मिल जाना