रिजल्ट से नाखुश स्टूडेंट 3 जून से यहां करें अप्लाई, जान लें पूरा नियम

लाइव सिटीज डेस्क (राज विमल) : बिहार इंटरमीडिएट के रिजल्ट से नाराज चल रहे छात्रों के लिए राहत भरी खबर है. जो छात्र अपने परीक्षाफल से खुश नहीं है  वे 3 जून से बिहार बोर्ड के ऑफिसियल साईट पर जा कर स्क्रूटनी के लिए आवेदन कर सकते हैं.

बिहार बोर्ड ने एक सूचना जारी करते हुए कहा छात्र अगर अपने प्राप्तांक से खुश नहीं है वह अपनी कॉपियों को स्क्रूटनी के लिए दे सकते है. 

ऐसे करें छात्र स्क्रूटनी के लिए आवेदन :-

बोर्ड द्वारा जारी सूचना के अनुसार छात्र-छात्राएं ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से स्क्रूटनी के लिए आवेदन कर सकते हैं.

ऑनलाइन मोड- ऑनलाइन आवेदन के लिए छात्रो को बोर्ड द्वारा दी गयी वेबसाइट www.srsec.bsebbihar.com पर जाकर ”apply for scrutiny”  पर क्लिक करें,  जो पेज खुलेगा उस पर अपना रोल नंबर एवं रोल कोड डालना है और अगले पेज पर जाकर जिस विषय में स्क्रूटनी  की इच्छा हो उसको चुनना है एवं ऑनलाइन माध्यम से उसका भुगतान करना है जो प्रति विषय 120 रूपये है. 

Fee payment के लिए डेबिट कार्ड / क्रेडिट कार्ड/ नेट बैंकिंग /ई-चलान /RTGS/NEFT के माध्यम से की जाएगी.
ई चलान से शुल्क जमा करने के लिए इलाहाबाद बैंक की किसी शाखा में बेवसाइट से निकाले गए चलान के द्वारा भुगतान किया जाए.

ऑफलाइन मोड – ऑफलाइन मोड में छात्रो को अपनी परीक्षाफल की प्रति लेकर उसके साथ बैंक ड्राफ्ट निर्धारित (120 रूपये/ विषय) जो सचिव बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के नाम से देय होगा, को लेकर क्षेत्रीय कार्यालय में जमा करना होगा .

शिक्षा मंत्री के अनुसार एक महीने के भीतर अर्थात जून के आखिरी सप्ताह में स्क्रूटनी के परिणाम आ जाएंगे. बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय पटना, पूर्णिया, मुंगेर, भागलपुर,  सारण, दरभंगा,  सहरसा, गया, एवं मुजफ्फरपुर में स्थित है.

ध्यान दें-

समिति विनियमावली में वर्णित प्रावधान के अंतर्गत स्क्रूटनी निम्नांकित बिन्दुओं पर आधारित  होगी
1.यदि अन्दर के पृष्ठों के अंक मुख्य पृष्ट पर जोड़े नही गये हो , तो उसमे सुधार किया जायेगा

2.दिए गए अंक में अगर कोई त्रुटी रह गयी होगी , तो उसमे सुधर किया जायेगा.

3. यदि कोई प्रश्न या खंड छुट गया हो मूल्यांकन उसे मूल्यांकित कर सुधार किया जायेगा.

4. स्क्रूटनी के बाद अंक बढ़ सकते है , घट सकते है या यथावत रह सकते है 

लाइव सिटीज से बात करते हुए कुछ छात्रों ने बताया कि उनका परीक्षाफल इन्टरनेट पर दिख ही नही रहा है,  ऐसे में वो किस विषय के लिए स्क्रूटनी के लिए डाले, इस बाबत अधिकारियों ने कहा कि  परीक्षाफल इन्टरनेट पर डाल दिया गया है.

हालांकि स्क्रूटनी के लिए सुविधा देने के बावजूद छात्र-छात्राओं का हंगामा दूसरे दिन भी जारी है. असंतुष्ट छात्र-छात्राएं पुनर्मूल्यांकन की मांग पर अड़े हैं. स्टूडेंट्स के हंगामे पर बिहार बोर्ड के चेयरमैन आनंद किशोर ने छात्रों से शांति से काम लेने का आग्रह किया है,  साथ ही यह भी आश्वस्त किया है कि यदि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी पाई जाती है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें-
Exclusive : भाजपा नेता के बेटे की ‘फर्जी फैक्‍ट्री’ से निकला है इंटर आर्ट्स का टॉपर गणेश
सच ये है : गिरिडीह से समस्तीपुर पढ़ने आया था गणेश, बन गया बिहार टॉपर
BIG BREAKING : फर्जी तो है, पर कौन? टॉपर गणेश या समस्‍तीपुर का स्‍कूल, अब जांचे बिहार बोर्ड 
हो गया CONFIRM : आर्ट्स टॉपर गणेश का रिजल्‍ट फर्जी है , संगीत का बेसिक ज्ञान भी नहीं है