आरा में घूस लेते DCLR को निगरानी ने किया गिरफ्तार

लाइव सिटीज : निगरनी विभाग किसी भी हाल में सूबे से घूसखोरों का सफाया करने में लगी है. आए दिन मिल रही शिकायतों के आधार पर नजराने की मांग करने वालों को निगरानी की टीम घूसखोरों को दबोच रही है. बुधवार को निगरानी की टीम ने पीरो के डीसीएलआर प्रभाष कुमार को 20 हजार घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.

सिकरहटा निवासी और जदयू के पंचायत अध्यक्ष धनंजय प्रसाद से डीसीएलआर प्रभाष कुमार नजराने की मांग कर रहे थे. मिली जानकारी के मुताबिक सिकरहटा में जिला परिषद की जमीन पर से अवैध कब्जा हटवाने की एवज में डीसीएलआर प्रभाष कुमार ने 50 हजार रुपये की मांग की थी. धनंजय कुमार का कहना है कि डीसीएलआर प्रभाष कुमार से जब भी अवैध कब्जे को हटवाने की बात की जाती थी वो बार बार पैसे की बात करने लगते थे.

धनंजय कुमार ने यह भी बताया कि डीसीएलआर प्रभाष कुमार का ऑडियो टेप भी है जिसमें वो पैसे की मांग करते हुए सुने जा सकते हैं. इन सब बातों को लेकर धनंजय प्रसाद ने निगरानी विभाग से  इसकी शिकायत की थी. इसके बाद निगरानी की टीम ने पूरे मामले की जांच की और सत्यतता पाने की बाद घूसखोर डीसीएलआर को दबोचने का लिए जाल बिछाया. बुधवार को निगरनी की टीम ने डीसीएलआर प्रभाष कुमार को इनके दफ्तर से इनको 20 हजार रुपये के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया. निगरानी टीम ने घूसखोर डीसीएलआर प्रभाष कुमार को गिरफ्तार करने के बाद सीधे पटना लेकर चली गई. मालूम हो कि मंगलवार को भी निगरनी की टीम ने अलग-अलग जगहों से 3 घूसखोरों को गिरफ्तार किया था.

यह भी पढ़ें- मधुबनी-पूर्णिया के DM बदले, पटना क्षेत्र प्राधिकार के CEO का भी स्थानांतरण