हरियाणा से बिहार भेजते थे शराब, तस्करों के सरगना को मनु महाराज ने किया गिरफ्तार

पटना (नियाज़ आलम): पटना पुलिस ने आखिरकार शराब तस्करी के हरियाणा कनेक्शन को खोज निकाला है. शराब के शातिर कारोबारी हरियाणा के झज्जर में बैठे  सफेदपोश ट्रांसपोर्टर  व अन्य करोड़पति लोग हैं. एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक हरियाणा के झज्जर से राघोपुर दियारा का सीधा कनेक्शन है और यहां से शराब की सप्लाई की जा रही थी.  

उन्होंने बताया कि पूर्व में ऑपरेशन विश्वास के तहत शराब पीने वालों को पकड़ा जा रहा था लेकिन इस बार उसके सप्लाई करने वालों को दबोचा गया है. पटना पुलिस के एसएसपी ने दावा किया है कि इस मामले में हरियाणा से शराब की सप्लाई कर रहे माफियाओं का रैकेट ध्वस्त करने में कामयाब हुए हैं. उन्होंने बताया कि शराब के मामले में पटना पुलिस की टीम पंजाब और हरियाणा के कई इलाकों में छापेमारी कर रही है. चंडीगढ़ में पिछले दस दिन से पटना पुलिस कैंप कर शराब तस्करों की जानकारी ले रही है. 

इस मामले में पुलिस को ज्ञात हुआ कि रणवीर नामक युवक, जो हत्या के मामले में चंडीगढ़ जेल में बंद है, वह मुख्य सरगना बताया जा रहा है. उसके अलावा हरियाणा का झज्जर निवासी मोहित गहलोत भी पुलिस के हत्थे  चढ़ा है, जो राघोपुर दियारा के शराब माफियाओं के सीधे संपर्क में था. राघोपुर दियारा में शराब कारोबार करने वाला वकील राय और अनिल राय भी अब पटना पुलिस की गिरफ्त में हैं. अनिल राय और वकील राय ने स्वीकार किया है कि वह काफी समय से राघोपुर दियारा में शराब कारोबार का गैंग ऑपरेट कर रहे हैं.

एसएसपी ने यह भी बताया है कि पूछताछ में पता चला है कि हरियाणा के बड़े कारोबारी यहां आकर लॉज आदि में रह कर शराब के धंधे को बढ़ाने की कोशिश में जुटे हैं, लेकिन उन सब के नाम का पता चल चुका है और जल्दी ही पुलिस उन तक पहुंच जाएगी. पुलिस मामले की अनुसंधान कर रही है. वहीं दूसरी तरफ पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के विष्णु होटल में खाना खा रहे शराब माफियाओं के गैंग के लोगों को दो कार में शराब के साथ गिरफ्तार कर लिया गया. एसएसपी ने बताया कि यह हरियाणा के रैकेट से शराब लेकर विभिन्न जगह पर होम डिलीवरी का काम किया करते थे. इसके अलावा कई जगह पर चल रही छापेमारी में शराब के साथ कई गाड़ियों को भी जब्त कर लिया गया है.

पटना पुलिस की टीम ने दावा किया है कि ऑपरेशन विश्वास के तहत आज पटना के विभिन्न इलाकों से सैकड़ों कार्टन शराब के साथ हजारों बोतल रॉयल स्टैग बरामद किए गए हैं. शराब के धंधेबाज़ इतने शातिर हैं कि वह बैंक एटीएम में करंसी नोट डालने वाले वाहन की तरह ऑन बैंक ड्यूटी लिखे वैन से शराब की होम डिलवरी कर रहे थे. बता दें कि इससे पहले डाक पार्सल लिखे वैन से भी शराब तस्करी करने वाले पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं.

यह भी पढ़ें-  हरियाणा भेज रहा बिहार में शराब , बड़ी जब्ती